Welcome to Scribd, the world's digital library. Read, publish, and share books and documents. See more
Download
Standard view
Full view
of .
Save to My Library
Look up keyword
Like this
1Activity
0 of .
Results for:
No results containing your search query
P. 1
Bal Bhajan Mala

Bal Bhajan Mala

Ratings: (0)|Views: 37 |Likes:
Published by Rajesh Kumar Duggal
Bal Bhajan Mala book
Bal Bhajan Mala book

More info:

Published by: Rajesh Kumar Duggal on Aug 15, 2012
Copyright:Attribution Non-commercial

Availability:

Read on Scribd mobile: iPhone, iPad and Android.
download as DOC, PDF, TXT or read online from Scribd
See more
See less

08/15/2012

pdf

text

original

 
 
 बा 
 
 हे
!
आनददाता 
!!
 
 हेपभु
!
आनददाता 
!!
 ान हमको दीिजये।
 
शीघ सारेद   ु गु  ण को द   ू  र हमसेकिजये।।
 
 हेपभु
...... 
 लीिजयेहमको शरण म   हम सदाचारी बन   
 
 चारी धम   रक वीर तधारी बन   ।।
 
 हेपभु
...... 
 नं दा कसी क हम कसी सभू  लकर भी न कर    
 
 ईषयाकभी भी हम कसी सेभू  लकर भी न कर   ।।
 
 हेपभु
... 
 सय बोल   झू  ठ याग   मे ल आस म   कर   
 
 
 दय जीवन हो हमारा यश तेरा गाया कर   ।।
 
 हेपभु
.... 
 जाय हमारी आय   ुहेपभु
!
 लोक कउकार म   
 
 हाथ डाल   हम कभी न भू  लकर अकार म   ।।
 
 हेपभु
.... 
 किजयेहम र क   ृा अब ऐसी हेरमामा 
! 
 मोह मद मसर रहत होवेहमारी आमा।।
 
 हेपभु
.... 
 पे म सेहम गु जन क नय ही सेवा कर    
 
 पे म सेहम सं क    ृत ही नय ही से वा कर   ।।
 
 हेपभु
... 
 योगवा वा हो अिधक यारी हम   
 
 ना पा करकसव   हतकारी बन   ।।
 
 हेपभु
....
ૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐ
 
 कने गे ा 
....
 
 कदम अना आगेबढाता चला जा।
 
 सदा पे म कगीत गाता चला जा।।
 
 तेरेमाग  म   वीर 
!
 काँ ट   बेह   ै
 
 िलयेतीर हाथ म   व री खेह   ै
 
 बहाद   ु र सबको मटाता चला जा।
 
 कदम अना आगेबढाता चला जा।।
 
 तूहआय   वंशी ऋक   ुल का बालक।
 
 पताी यशवी सदा दीनालक।
 
 तूसं देश सु ख का सु नाता चला जा।
 
 कदम अना आगेबढाता चला जा।।
 
भलेआज तू  फान उठकर कआय   
 
 बला र चली आ रही ह बलाय   
 
 य   ु वा वीर ह   ैदनदनाता चला जा।
 
 कदम अना आगेबढाता चला जा।।
 
 जो बछु ेह    ए ह   ैउह   तूमला जा।
 
 जो सोयेेह   ैउह   तूजगा जा।।
 
 तूआनं द डं का बजाता चला जा।
 
 कदम अना आगेबढाता चला जा।।
ૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐ
 
 य  से
.....
 
 चय  के ालन सेवाय का सं चार कर   
 
श का वकास कर   चर का नमा ण कर   ।। टेक।।
- 2 
 यौवन क सु रा सेजीवन का उार कर   
 
 सं यम क श सेसवा गीण वकास कर    ।।
 
 यौवन धन बरबाद ह   आ हवछदी उछंखल जीवन से
, 
 टीवी सीरीयल चलच सेअलील साहय से
 
 इन सबको अब छो कअनेयौवन को महकाय   
,
 सं त कससं ग म   जाकर जीवन धय बनाय   ।।
 
 चय  के ालन से
....
।। टेक।।
 
 
 सं यमहीन देश म   ह    ई हयौवन धन क तबाही 
,
 तन 
-
 मन ककई रोग बढह   ैद   ु च चर अराधी।
 
 छो कउनका अंध अनु करण अना देश बचाय    
, 
यान योग से वा भ सेसं क    ृत को अनाय   ।।
 
 चय  के ालन से
....
।। टेक ।।
 
 सं यम सेही श मलेगी तन 
-
 मन वथ रह    गे
, 
 बु  ख   ू  ब क   ुशा बने गी नय पस रह    गे।
 
 जीवन कहर कोई े म   उत हो के रहेगी 
, 
 लौकक और ारलौकक जग म   पगत हो के रहे गी।।
 
 चय  के ालन से
....
।। टेक ।।
 
 दे ख लो अनी सं क   ृत म   भी सं यमी वीर ह    ए ह   ै
, 
 महावीर और भीषम तामह ज सेवीर ह    ए ह   ै
 
 सं यम क सीख उनसेलेहम भी वीर बन     गे
, 
 ववगु  कद र थात अना देश कर    गे।।
 
 चय  के ालन से
.....
।। टेक ।।
 
 यौवन सु रा कंथ को जन 
-
 जन तक ह     ँ चाय   
, 
भटके उलझेय   ु वावग  को सं यम थ दखलाय   
 
 य   ु वाधन रक अभयान को याक तेज बनाय   
,
 रा    ोथान कद वी काय  म   जीवन सफल बनाय   ।।
 
 चय  के ालन से
....
।। टेक ।।
 
 यौवन क सु रा से
....
ૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐૐ
 
  देखे ह
.....
 
 ीछे मु कर या द खेह    ैआगेबढता चल।
 
 सफलता चरण चू  मेगी आज नह तो कल।।
 
 तूमीरा ज सी भ कर 
,
 तूकसी भी द   ुःख सेकभी न डर।
 
 तूजनम 
-
 जनम कफर ना मर 
,
 तार    गेतु झको बस गु वर।।
 
 गु भ को अब तूा ले
,
आयेना फर येल।।
 
 सफलता ते रे
..... 
 तूवीर शवाजी ज सा बन 
,
 तूभ करनेवाला बन।
 
 तूु व कज सा आज चमक 
,
 पाद कज सा यारा बन।।
 
 बीती बात को या सोचे
,
आगेबढता चल।
 
 सफलता ते रे
.... 
 तूश अनी जान ले
,
 तूख   ु द को ही हचान ले।
 
 कहना तूगु  का मान ले
,
 ऊँ चा उठनेक ठान ले।।
 
 ते रेभीतर ही छा ह
,
 ईशपा का बल।
 
 सफलता ते रे
..... 
 ते रेभीतर अमर खजाना ह
,
 बस द    को हटाना ह
 
 बु  श को बढाना ह
,
 बस ईवर को ही ाना ह।।
 
 करनी ज सी भी तूकरे गा 
,
 ाये गा उसका फल।
 
 सफलता ते रे
.... 
 गु पे म म   ड   ु बक लगायेजा 
,
 गु मं  को कवच बनायेजा।
 
 तूान का अमृ त ायेजा 
,
 गु वर कगु ण ही गायेजा।।
 
 जम सेतूभटक रहा ह
,
अब तो जरा सँभल।
 
 सफलता ते रे
.... 
 तु झेतन सेख    ु द को बचाना ह
,
 तु झेसं यम अना बढाना ह

You're Reading a Free Preview

Download
/*********** DO NOT ALTER ANYTHING BELOW THIS LINE ! ************/ var s_code=s.t();if(s_code)document.write(s_code)//-->