Welcome to Scribd, the world's digital library. Read, publish, and share books and documents. See more
Download
Standard view
Full view
of .
Look up keyword or section
Like this
7Activity
0 of .
Results for:
No results containing your search query
P. 1
NARAK KA MARG

NARAK KA MARG

Ratings:

5.0

(1)
|Views: 476 |Likes:
Published by Vivekanand
Best story of famous writer Premchand
Best story of famous writer Premchand

More info:

Published by: Vivekanand on Jun 13, 2009
Copyright:Attribution Non-commercial

Availability:

Read on Scribd mobile: iPhone, iPad and Android.
download as DOC, PDF, TXT or read online from Scribd
See more
See less

06/10/2012

pdf

text

original

 
पेमच
 
 
म
िशास 
:3
नरक का माग
:20
ी और ुष 
:28
उधदार 
:34
नासन 
:42
नैराय लीला 
:49
कौ 
:61
गकी दी 
:66
आार 
:75
एक ऑचकी कसर 
:81
माता का हदय 
:87
रा 
:96
ततर 
:100
नैराय 
:
08
दणड 
:119
कार 
:132
लैला 
:140
नेउर 
:158
ू 
:168
2
 
िशास
न दनो मस जोसी बबई सभय 
-
समाज की राका थी। थी तो  एक छोट सी कया ाठाला की अधयािका र उसका ठाट 
-
बाट 
,
मान 
-
समान ब 
-
बड न 
-
रानय को ी लजत करता था।  एक बमल म रती थी 
,
जो कसी जमाने म सतारा कमाराज का नास 
-
थान था। ॉ सारदन नगर करईस 
,
राज 
,
राज 
-
कमचारय का तांता लगा रता था।  सारपांत कन और कीउासक की ेी थी। अगर कसी को ताब का त था तो  मस जोी की ुामद करता था। कसी को अने या संबी कलए कोई अछा ओदा दलाने की ुन थी तो  मस जोी की अराना करता था। सरकार इमारत ठक
;
नमक 
,
राब 
,
अफीम आद सरकार चीज कठक
;
लोे
-
लक 
,
कल 
-
ुरजे आद ठकसब मस जोी  काथो म थेजो ककरतथी  करती थी 
,
जो छ ोता था उसी काथो ोता था। जस   अनी अरबी घोो की फटन र सैर करने नकलती तो रईस की सारयां आ  आ राते सेट जाती थी 
,
बे दक  ु ानदार े ो 
-
ो कर सलाम करने लगते थे।  ती थी 
,
लेकन नगर म उससे बढकर ती रमयां ी थी।  सुता थीं
,
चतुर थी 
,
गाने म नु 
,
ंसती तो अनोी छि से
,
बोलती तो नराली घटा से
,
ताकती तो बांकी चतन से
;
लेकन इन गुो म उसका एकाय न था। उसकी पता 
,
िऔर कीका कऔर  रय था। सारा नगर  न 
;
सारे पात का बचा जानता था क बबई केगनरमटर जौर मस जोी किबना दाम कगुलाम ै।मस जोी की आंो का इारा उनकलए नादरा   ुम ै।  थएटरो म दात म
,
जलस म मजोी सासाये की ॉरते ै। और की 
-
की उनकी मोटर रात कसनाटम मस जोी कमकान से नकलती   ुई लोगो को दाई देती ै। इस पेम म ासना की माा अक ै या ि की 
,
य कोई न जानता । लेकन मटर जौर िात ै और मस जौी िा 
,
इसलए जो लोग उनकपेम को कलुिषत कते ै
,
े उन र कोई अयाचार नं करते।
उ 
3

Activity (7)

You've already reviewed this. Edit your review.
1 hundred reads
1 thousand reads
kannanjawkar liked this
ak09 liked this
Ravi Bhartia liked this
Ravi Bhartia liked this
djkkj liked this

You're Reading a Free Preview

Download
/*********** DO NOT ALTER ANYTHING BELOW THIS LINE ! ************/ var s_code=s.t();if(s_code)document.write(s_code)//-->