Welcome to Scribd, the world's digital library. Read, publish, and share books and documents. See more
Download
Standard view
Full view
of .
Look up keyword
Like this
0Activity
0 of .
Results for:
No results containing your search query
P. 1
DuniyaKaSabseAnmolRatan-4

DuniyaKaSabseAnmolRatan-4

Ratings: (0)|Views: 1|Likes:
Published by sivsyadav
story
story

More info:

Published by: sivsyadav on Dec 16, 2013
Copyright:Attribution Non-commercial

Availability:

Read on Scribd mobile: iPhone, iPad and Android.
download as DOC, PDF, TXT or read online from Scribd
See more
See less

12/16/2013

pdf

text

original

 
 
पेमचंद 
 
 
 2
भ 
 
िपएक आवाज 
 
:
 
3
 
नेक 
 
:
 
11
 
  ॉका जभॊदाय 
 
:
 
21
 
अनाथ रक 
 
:
 
31
 
कभ का पर 
 
:
 
40
 
 
 3
सिरफ
 
एक 
 
 आवाज 
 
ह का वत था। ठाक  ुय दफनिॊह कघय भ   एक हॊगाभा यऩा था। आज यात को चहण होने वारा था। ठाक  ुय िाह अऩन   ू़ ठक  ुयाइन किाथ गॊगाज जाते थे इिरए िाया घय उनक ऩ   ुयोय तैमाय़ भ   रगा ह  ुआ था। एक ह  ू उनका पटा ह  ुक  ुताफ ट  ॉक यह़ थ, द  ूिय़ ह  ू उनक ऩग रए िोचत थ, क किे इिक भयभत क  ंॊ दोनो रकम  ॉ नाशता तैमाय कयने भ   तलऱन थॊ। जो मादा दरचसऩ काभ था औय च ने अऩन आदत कअन  ुिाय एक क  ुहयाभ भचा यखा था मक हय एक आने
-
जाने कभौकऩय उनका योने का जो उभॊग ऩय होत था। जाने  वत िाथा जाने करए योते, आने कवत इिरए योते कय़न का   ॉट 
-
खया भनोन  ुक  ूर नह़ॊ ह  ुआ। ़ ठक  ुयाइन च को प  ुिरात थ औय च 
-
च भ   अऩन ह  ुओॊ को िभझात थ 
-
देख खयदाय ! ज तक उह न हो जाम, घय िे ाहय न नकरना। ह  िमा, छ  ुय़ ,क  ुलहा , इह   हाथ िे भत छ  ुना। िभझामे देत ह  ू , भानना चाहे न भानना। त  ुह   भेय़ ात क ऩयवाह है। भ  ु ॊभ   ऩान क   ू ॊदे न ऩ  । नायामण कघय वऩत ऩ है। जो िाध  ु
 — 
बखाय़ दयवाजे ऩय आ जाम उिे पयना भत। ह  ुओॊ ने ि  ुना औय नह़ॊ ि  ुना। वे भना यह़ॊ थॊ क कि तयह मह मह   ॉ िे टर। पाग  ुन का भह़ना है, गाने को तयि गमे। आज ख  ू गाना 
-
जाना होगा।
 
ठाक  ुय िाह थे तो   ूे, रेकन   ूाऩे का अिय दर तक नह़ॊ ऩह  ु चा था। उह   इि ात का गवफ था क कोई हण गॊगा 
-
सनान कगैय नह़ॊ छ  ूटा। उनका ान आशचमफ जनक था। िपऩ को देखकय भह़न ऩहरे ि  ूमफ
-
हण औय द  ूियऩव कदन ता देते थे। इिरए गाववार क नगाह भ   उनक इजत अगय ऩडत िे मादा न थ तो कभ ब न थ। जवान भ   क  ुछ दन पौज भ   नौकय़ ब क थ। उिक गभ अ तक ाक थ, भजार न थ क कोई 
 
उनक तयप िध आिे देख िक। िभन रानेवारे एक चऩयाि को ऐि मावहायक चेतावन द़ थ जिका उदाहयण आि 
-
ऩाि कदि 
-
ऩ  ॉच ग  ॉव भ   ब नह़ॊ भर िकता। हभत औय हौिरे ककाभ भ   अ ब आगे
-
आगे यहते थे कि काभ को भ   ुशकर ता देना, उनक हभत को ेयत कय देना था। जह  ॉ िक जान   द हो जाए,
 ु
 

You're Reading a Free Preview

Download
scribd
/*********** DO NOT ALTER ANYTHING BELOW THIS LINE ! ************/ var s_code=s.t();if(s_code)document.write(s_code)//-->