Welcome to Scribd, the world's digital library. Read, publish, and share books and documents. See more ➡
Download
Standard view
Full view
of .
Add note
Save to My Library
Sync to mobile
Look up keyword
Like this
1Activity
×
0 of .
Results for:
No results containing your search query
P. 1
NasheSeSavdhaan

NasheSeSavdhaan

Ratings: (0)|Views: 110|Likes:
Published by HariOmGroup

More info:

Published by: HariOmGroup on Jun 19, 2010
Copyright:Attribution Non-commercial

Availability:

Read on Scribd mobile: iPhone, iPad and Android.
download as PDF, TXT or read online from Scribd
See More
See less

06/19/2010

pdf

text

original

 
 
(
तबाक
)
 
"
उठ 
....
जाग 
....
औ 
 
तेा 
 
येय 
 
स 
 
न 
 
हो 
 
तब 
 
तक 
 
चैन 
 
न 
 
लेना।
"
 
उपनष 
 "
यद 
 
तुम 
 
अपने
 
आपको 
 
जान 
 
लोगे
 
तो 
 
तुह
 
कसी 
 
भोग 
 
 
पीछे
 
भागने
 
क 
 
आवँयकता 
 
न 
 
हेगी।
 
अतएव 
 
आम 
-
सााका 
 
को।
"
(
)
ूःतावना
 
आमभाव 
 
से
 
सृ 
 
का 
 
सॆाट 
 
बनने
 
 
लए 
 
नमरत 
 
मानव 
 
जीवभाव 
 
से
 
से
 
पतन 
 
 
गतर
 
म
 
गता 
 
जाता 
 
है
 
औ 
 
ःवय
 
को 
 
ह 
 
क 
 
देता 
 
है
 
उसका 
 
उम 
 
उदाहण 
 
देखना 
 
हो 
 
तो 
 
आप 
 
धॆपान 
 
औ 
 
सुा 
 
जैसे
 
यसन 
 
 
ूेमी 
 
य 
 
को 
 
देख 
 
लीजए।
 
धॆपान 
 
औ 
 
सुा 
 
 
सक 
 
देवताओ
 
 
मद 
 
 
समान 
 
अपने
 
श 
 
को 
 
जलती 
 
चता 
 
जैसा 
 
बना 
 
देते
 
ह।
 
यह 
 
आयर
 
क 
 
बात 
 
नह
 
लगती 
?
 
एक 
 
ूका 
 
से
 
इसे
 
बु 
 
का 
 
दवाला 
 
ह 
 
कहा 
 
जाएगा।
 
मानव 
 
को 
 
इस 
 
गतर
 
से
 
बाह 
 
नकालने
 
 
लए 
 
अनेक 
 
महापुष 
 
न
 
युग 
-
युग 
 
से
 
ूय 
 
कये
 
ह।
 
आज 
 
उह
 
ूय 
 
म
 
से
 
एक 
 
यह 
 
'
नशे
 
से
 
सावधान 
'
 
नामक 
 
पुःतका 
 
आपके
 
सम 
 
ूःतुत 
 
क 
 
जा 
 
ह 
 
ै।
 
आशा 
 
है
 
क 
 
लोग 
 
 
अधोगामी 
 
जीवन 
 
को 
 
उवरगामी 
 
बनाने
 
औ 
 
दय 
 
जीवन 
 
जीने
 
को 
 
ूेत 
 
कने
 
म
 
यह 
 
पुःतक 
 
उपयोगी 
 
हेगी।
 
हमा 
 
ूाथरना 
 
 
क 
 
सजन 
 
ःवय
 
इस 
 
जीवन 
 
का 
 
नमारण 
 
कने
 
वाली 
 
पुःतका 
 
को 
 
पढ़
 
औ 
 
इसे
 
घ 
-
घ 
 
पह  ुचाय
 
अधक 
 
पुःतक
 
मगवा 
 
क 
 
बाटने
 
 
इछुक 
 
सजन 
 
को 
 
यायत 
 
मय 
 
से
 
पुःतक
 
द 
 
जायगी।
 
गाव 
-
गाव 
 
घ 
-
घ 
 
म
 
लोग 
 
यसन 
 
से
 
मु 
 
ह 
 
इसके
 
लए 
 
हम 
 
सब 
 
कटब 
 
ह।
 
पथ 
 
 
मद 
 
का 
 
जीणा 
 
भले
 
होता 
 
ह
 
पतु
 
मानव 
 
मद 
 
का 
 
जीणा 
 
अवँय 
 
ह 
 
तेजी 
 
से
 
होना 
 
चाहए।
 
यह 
 
योगदान 
 
हम 
 
सबके
 
हःसे
 
म
 
आता 
 
है।
 
अत
 
पुन
 
हमा 
 
वनती 
 
 
क 
 
यह 
 
पुःतक 
 
पढ़
 
औ 
 
जैसे
 
तैसे
 
अधकाधक 
 
लोग 
 
को 
 
पढ़ाने
 
म
 
नम 
 
बनक 
 
मानव 
 
मद 
 
का 
 
ण 
 
क।
 
इस 
 
पवऽ 
 
कायर
 
का 
 
लाभ 
 
पमामा 
 
आपको 
 
अवँय 
 
देगा 
,
देगा 
 
औ 
 
देगा।
 
ौी
 
योग
 
वेदात
 
सेवा
 
समत
 
अनुम
 
 
(
!
-

You're Reading a Free Preview

Download
/*********** DO NOT ALTER ANYTHING BELOW THIS LINE ! ************/ var s_code=s.t();if(s_code)document.write(s_code)//-->