You are on page 1of 2

Take a copper or silver or any good vessel and fill it with clean water.

Place it before
you. Sit down straight facing the east and then recite the following Upanishad
manthrams daily twelve times since there are twelve Suns or Aditya. After the
recitation is over, drink part of the water and clean the eyes with the left out portion.
Also recite the Rgveda manthram given separately 12 times and prostrate before the
Sun after reciting it.

In order to pronounce correctly hear the audio clip daily either in Windows Media
Player or in Winamp for clarity. No part of this should be used commercially without
the express permission of the compiler/artiste of this rendition. Contact: Srinivasan
91-44-25520189 for any information.

Sanskrit
चा ुषोपिनषत्||
||चा

अ याहा च ुषी िव यायाहा अिहबु य ऋिषिह |


गाय ी छ धह | शूय देवता | च ुरोगिन ु ये िविनयोगह |

च ु च ु च ु तेजह ि थरह भव | मां पािह पािह |


व रतं च ुरोहान् शमय शमय | ममा जात पं तेजो
दशय दशय यथाहम धोन यां तथा क पय क पय |
क याणं कु कु | यािन मम पूवज म उपा जतािन च ु ितरोधक दु ु तािन सवािण िनमू य िनमू य
|
नमह क याणकराय अ त ु ाय | नमहसूयाय |
नमो भगवते सूयाय अि तेजसे नमह |
खेचराय नमह | महते नमह | रजसे नमह | तमसे नमह |
असतो मा स मय | तमसो मा योितिह गमय |
ु योहो मा अ ुतं गमय | उ णो भगवान् शुिच पह |
ह सो भगवान् शुिच ित पह | य इमां चा ु मत
िव यां ा णो िन यमधीयते न त य अि रोगो भवित |
न त य कु ले अ धो भवित | न त य कु ले अ धो भवित |
अ ौ ा णान् ाहिय व िव यािसि िह भवित | िव व पं
ुिणनं जातवेदसं िहर मयं पु षं योती पं तप तं
सह रि मिह शतधा वतमानह पुरह जानां उदय येष
सूयह | नमो भगवते आ द याय |

Tamil
சா
||சா ுேஷாபனிஷ ||

அ யாஹா ச ுஷீ வி யாயாஹா அஹி ய ஷிஹி |


காய ாீ ச தஹ | ஸூ ேயா ேதவதா | ச ுேராக நி தேய வினிேயாகஹ|

ஓ ச ுஹு ச ுஹு ச ுஹு ேதஜஹ திரஹ பவ | மா பாஹி பாஹி|


வாித ச ுேராஹா ஷமய ஷமய | மமா ஜாத ப ேதேஜா
த ஷய த ஷய யதாஹம ேதான யா ததா க பய க பய |
க யாண | யானி மம வஜ ம உபா ஜிதானி ச ுஹு
ரதிேராதக தானி ஸ வாணி நி ய நி ய|

ஓ நமஹ ச ுஹு ேதேஜாதா ேர தி யாய பா கராய |


ஓ நமஹ க யாணகராய அ தாய | ஓ நமஹ ஸூ யாய |
ஓ நேமா பகவேத ஸூ யாய அ ிேதஜேஸ நமஹ |
ேகசராய நமஹ | மஹேத நமஹ | ரஜேஸ நமஹ | தமேஸ நமஹ |
அஸேதா மா ஸ கமய | தமேஸா மா ேயாதிஹி கமய |
ேயாேஹா மா அ த கமய | உ ேணா பகவா ஷுசி பஹ |
ஹ ேஸா பகவா ஷுசி ரதி பஹ | ய இமா சா ு மதீ
வி யா ரா மேணா நி யமதீயேத ந த ய அ ிேராேகா பவதி |
ந த ய ேல அ ேதா பவதி | ந த ய ேல அ ேதா பவதி |
அ ெடௗ ரா மணா ராஹயி வ வி யா திஹி பவதி |
வி வ ப ணின ஜாதேவதஸ ஹிர மய ஷ ேயாதீ ப
தப த ஸஹ ர ர மிஹி ஷததா வ தமானஹ ரஹ ரஜானா உதய ேயஷ
ஸூ யஹ | ஓ நேமா பகவேத ஆதி யாய |