P. 1
Insaaf Ki Dagar Pe

Insaaf Ki Dagar Pe

|Views: 3|Likes:
Published by gaurang
Insaaf Ki Dagar Pe
Insaaf Ki Dagar Pe

More info:

Published by: gaurang on May 03, 2013
Copyright:Attribution Non-commercial

Availability:

Read on Scribd mobile: iPhone, iPad and Android.
download as DOCX, PDF or read online from Scribd
See more
See less

05/03/2013

pdf

text

original

इन्साफ की डगर पे आओ दिखाए चऱ क े

ये िे श है हमारा नेता हम ही है कऱ क े ||

िन े रं ज सहना और क ु नया क ु छ ना मुह से कहना सच्चाई क े बल पे आगे को बढ़ते रहना रख िें गे एक दिन हम संसार को बिऱ क े इन्साफ की डगर पे आओ दिखाए चऱ क े ये िे श है हमारा नेता हम ही है कऱ क े || अपने हो या पराये, सब क े लऱए हो न्याय

रस्ते बडे कदिन है चऱना संभऱ संभऱ क े ये िे श है हमारा नेता हम ही है कऱ क े || इंन्साननयत क े सर पे इज्जत का ताज रखना तन-मन की भेट िे कर भारत की ऱाज रखना जीवन नया लमऱेगा अंनतम गचता में जऱ क े इन्साफ की डगर पे आओ दिखाए चऱ क े ये िे श है हमारा नेता हम ही है कऱ क े || इन्साफ की डगर पे आओ दिखाए चऱ क े

िे खो किम तुम्हारा हरगगस ना डगमगाए

You're Reading a Free Preview

Download
scribd
/*********** DO NOT ALTER ANYTHING BELOW THIS LINE ! ************/ var s_code=s.t();if(s_code)document.write(s_code)//-->