दवो महेरः , गु: सा ात ्

परं ः त मैी गुवे
नमः
Home

About us

Sadhnas

Publications

Products

News

वशाल दय प जागरण गणपित साधना - Vishaal Hriday
Paksh Jaagran Ganapati Sadhna

Gallery

Testimonials

Contact

Featured Posts

November 14, 2013

स ु त व साधना - Sadguru
Brahm Tatva Sadhna
Nov ember 14, 2013

Recent Posts

धन ल मी साधना - Dhan
Laxmi Sadhna

Nov ember 14, 2013

साधना म िस िमलने
म तब तक सं
शय बना रहता है
, जब तक
दय प जा त न हो | इसिलए सव थम दय प को जगाना
चा हए | वशाल दय प जागरण से
ह िस के ार वतः ह खु

जाते
ह और वशाल दय प जा त होते
ह भीतर से
खु
शी गट
होती है
और अनाहत च
वतः खु
ल जाता है
| अं
दर से
जब खु
शी
गट हो तो साधक का मन भीतर सेखल उठता है
| वो अं
दर से
खु

केहँ
सता हैपर बाहर सामा य ह दखता है
और आगे
केच

या ा वतः शु हो जाती है| बना वशाल दयप
जगाए
सह ार च को जगाना मुकल होता है
और वशुच भी जगाना
बहु
त मुकल होता है
| जहां
तक मे
रा अनु
भव है
, इस वशाल दय
प को जगानेक अनमोल मताएं
गणपती साधना म ह | यह
साधना मे
र वयं
क अनु
भू
त है
और इस का योग मने
एक गुभाई
को भी कराया था ! उसे
भी अं
दर से
परम खु
शी का एहसास हु
आ और
आज वो साधना केएक विश तर पर है
!
सामा य अव था म कु

डिलनी म णपू
र च पर जाकर क जाती है
|
उसे
आगे
गितमान करने
केिलए वशाल दय प जागरण ज र है
|
इस साधना से
मन पर पड़ा माया का पदा हट जाता है
और साधक को
द य अनु
भू
ित होती है
| उसे
साधना म होने
वाली कमी का वतः
एहसास हो जाता है
और मन को एका ता िमल जाती है
| इसिलए यह
एक ज र और ये
क साधक केिलए आव यक साधना समझते
हु
ये
पो ट कर रहा हू

| आशा है
आप सभी इससे
लाभ उठाएं
गे
और परम

स ु त व साधना Sadguru Brahm Tatva...

Nov ember 14, 2013

साबर गुदशन साधना Sabar Guru Darshan...

Nov ember 14, 2013

गौर गणे
श पू
जन - Gauri
Ganesh Poojan

Nov ember 14, 2013

वनायक तो - Vinaayak
Stotra
Nov ember 14, 2013

वशाल दय प जागरण
गणपित साधना - Vishaal...

Nov ember 14, 2013

साबर मातं
गी बं
धी मो
साधना - Sabar Matangi...

Nov ember 14, 2013

म एवं

स मोहन ाि

द ा े
य साधना - Prem &...

इस साधना को शुल प केकसी भी सोमवार को शु कर | यह 11 दन क साधना है | 2. पू जन केदौरान शुघी का द पक जलता रहना चा हए | 8. इस साधना म आप कोई भी माला ले ल | अगर फ टक माला िमल जाए तो और भी उ म है | अगर गणपती क मू ित न हो तो गणे श िच पर भी साधना कर सकते ह| 7. Nov ember 12.व दनीय सदगुजी के ान को दय से अपनातेहु ए साधना माग श त करगे | इस साधना को पू ण दय से कर | इसम थम यास म ह सफलता िमल जाती है ... हे गुदे व आप मु झे सफलता दान कर जससेक म साधना माग पर एक गित केसाथ िनरं तर बढ़ सकू ँ| इतना कह कर जल छोड़ द और फर गणे श पू जन कर िन न मंक 21 माला कर | मं || ॐ लांलीम ल गं गणपतये नमः || || Om Glaam Gleem Gloum Gam Ganpatye Namah || 5. Nov ember 12.Vajra Kawach. साधना केबाद माला को गले म कम से कम 21 दन धारण ज र कर और व ह या िच को पू जा थान म रख द | शे ष पू जन साम ी को जल वा हत कर द | Tags: गणपित साधना (ganapati sadhna) Add a comment.com Posting as Akhilesh Sharma (Not you?) Com m ent Nov ember 12.. 2013 Sadhna Category अ सरा साधना (apsara sadhna) आयु वद अमृ त (ayurveda amrit) गणपित साधना (ganapati sadhna) गुसाधना (guru sadhna) द ा े य साधना (duttatreya sadhna) दस महा व ा साधना (dus mahavidya sadhna) भै रव साधना (bhairav sadhna) ल मी साधना (laxmi sadhna) Follow Us .. Post to Facebook Facebook social plugin © Shreedham108 / Call +91-9999855221 / shreedham108@gmail.गुपू जन कर सं क प कर क म अपने मन केसभी वकार पर वजय पाकर अपनेवशाल दय प को जगाना चाहता हू ँ . अगर छ वाली मू ित िमल जाए तो अित उ म है | 4 . अपने सामने एक बाजोट पर पीला व बछा कर उसपर गणपित व ह और गु िच था पत कर | गणपित क मू ित कोई भी ले सकते ह .. 2013 व कवच साधना (सु र ा के िलए) . इस साधना म आप सफ़े द व धारण कर सफ़े द आसन पर उ रािभमु ख हो कर बै ठ (उ र दशा क ओर मु ह करके ं )| 3. जब आपको भीतर से ऐसा लगे क आप खु लकेहँ सना चाहते ह | अं दर से एक खु शी का एहसास हो तो समझ ल क साधना सफल हु ई है ! इस साधना से गणपती केब बा मक दशन भी हो जाते ह| 6. 2013 ीद ा े य ल मी साधना (धन वै भ व ाि हे तु ) -. जससे अ य उ चतम साधनाओं का माग वतः खु ल जाता है | यह बात म पू रेव ास से कहता हू ँ | साधना विध 1..