Pickles of India

सर्दि मों के भोंसभ भें गाजय फाजाय भें खफ

ू मभरती है . गाजय के सराद औय हरवे के साथ साथ
इसका का अचाय औय गाजय की काांजी का हभ फहुतामत भें प्रमोग कयते हैं. आइमे आज हभ
गाजय का अचाय (Gajar Ka Achar) फनाते हैं.

आवश्यक सामग्री - Ingredients for Carrot Pickle Recipe

गाजय - 500 ग्राभ

हयीमभचि - 50 ग्राभ

अदयक - 50-100 ग्राभ

सयसों का तेर - 100 ग्राभ (आधा कऩ)

हीांग - 2-3 पऩांच (पऩसी हुई)
नभक - 2 1/2 छोटी चम्भच (स्वादानुसाय)

ऩीरी सयसों - 2 फडे चम्भच (भोटी भोटी पऩसी हुई)
अजवामन - 1 छोटी चम्भच

भेथी दाने - 2 छोटी चम्भच

हल्दी ऩाउडय -1 छोटी चम्भच

रार मभचि - 1/2 - 1 छोटी चम्भच

मसयका -2 - 3 टे फर स्ऩन

ववधि - How to make Carrot Pickle
Recipe
गाजय धोइमे, छीमरमे औय रम्फी रम्फी काट
रीजजमे. हयी मभचि धोइमे, डांठर तोडडमे औय
रम्फाई भें काट रीजजमे. अदयक धोइमे, छीमरमे
औय ऩतरा ऩतरा काट रीजजमे.
साफत
ु भसारे को कढाई भें डारकय हल्का सा

योस्ट कय रीजजमे, ताकक भसारे से नभी हट जाम.
कढाई भें तेर गयभ कीजजमे, गयभ तेर भें हीांग डामरमे, कटे गाजय, अदयक औय हयी मभचि डार
कय मभराइमे, 2 मभननट तक ऩकाइमे, योस्टे ड भसारे, हल्दी ऩाउडय, नभक औय रार मभचि ऩाउडय
डारकय सबी को अच्छी तयह मभरा दीजजमे. अचाय को 10 मभननट के मरमे ढककय यख दीजजमे.

red chili pow (adjust to suit your taste) 1 tsp. 3-4 र्दन तक योजाना अचाय को सूखे चभचे से चरा कय ऊऩय नीचे करयमे. channa dal 1 tbsp. i discard the pulp) 15 Gms methi seeds (fenugreek)(approximately 1 tbsp ) 2 tbsp. मर्द आऩको अचाय ज्मादा र्दनों तक यख कय खाना है . मसयका डारकय मभक्स कय दीजजमे. आऩका गाजय का अचाय का अचाय तैमाय है . आऩ इस अचाय को सर्दि मों के भौसभ भें भर्हने बय तक औय गमभिमों भें 15 र्दन तक यख कय खा सकते हैं. Andhra Tomato Pickle | Nilava Tomato Pachadi Recipe preparation time: 20 mins cooking time: 20 mins Ingredients 500 Gms chopped tomatoes 6 tbsp. अचाय को ककसी काांच के कन्टे नय भें बय दीजजमे. sunflower oil for frying tomatoes Salt as per taste Seasoning 90 ml mustard oil for seasoning and add on( can use any oil) 1 sprig curry leaves 1 tsp.अचाय को ठां डा होने के फाद. mustard 1 tbsp. यात के सभम कभये के अन्दय यखखमे. अगय आऩके महाां धऩ ू आती है तफ अचाय के कन्टे नय को धऩ ू भें ही यख रीजजमे. गाजय के अचाय को आऩ कबी बी सूखे औय साप चम्भच से ननकामरमे औय खाइमे. तफ अचाय भें इतना तेर औय डार दीजजमे कक गाजय तेर भें डुफी यहें . अचाय को ननकारने के मरमे हभेशा साप औय सख ू े चभचे का प्रमोग कयें . jeera 1 tsp. आऩका गाजय का खट्टा अचाय तैमाय है . turmeric pow 80 Gms tamarind (adjust as per your taste. urad dal 6 cloves of garlic (sliced) 1 red chille deseeded .

2. . Wash tomatoes and set aside to dry.Pinch of hing Method 1. Dry roast fenugreek seeds on a low flame and set aside to cool.

Soak tamarind with enough warm water to immerse it. . (boiled & cooled water) 4. Powder the fenugreek seeds in a mixer.3.

. Adjust the tamarind to suit your taste.5. 6. Add this to the cooked tomatoes. Chop tomatoes and fry them with salt and turmeric in a non stick on a medium flame till they turn mushy. Squeeze the tamarind fully and filter it to remove the impurities.

Add chillie pow.7. add mustard . fenugreek to this mixture and blend well. Heat a seasoning pan with 2 tbsp. Once the tomato mix is cool fully. salt. mustard oil. 8.

next add red chillie and curry leaves. 9.channa dal. Add this seasoning and pour rest of the mustard oil (60 ml) to the pickle and mix well.jeera. . urad dal fry till the mustard jeera splutter then add garlic and fry for a min.

airtight jar. I bottle the pickle in many small jars. * Always keep your hands. Stays fresh for several months. * If using water to soak the tamarind always use only boiled and . · Tips on how to prepare & preserve your pickles for longer time. dry. free from moisture while preparing pickles. so each time I open a new jar. ingredients and the utensils dry.Once completely cool store it in a clean. pickle smells fresh and tastes good.

आधा छोटी चम्भच  ऩीरी सयसों . आइमे आज गाजय की काांजी (Gajar Ki Kanji) फनामें. मभरा दीजजमे.cooled/warm water. ककसी फतिन भें ऩानी को उफार आने तक गयभ ककजजमे.2 छोटी चम्भच  हल्दी ऩाउडय . * Always use a dry spoon to serve the pickles and store them in a dry and cool place. Gajar Ki Kanjee. नभक. ककसी फतिन भें . गाजय से ऩानी को ननकार कय. आऩ इसका उऩमोग गभी औय सदी दोनों भौसभ भें कय सकते हैं. भसारा मभरी गाजय बी इसभें डारकय. ऩीस दीजजमे)   सयसों का तेर . ऩानी भें उफार आने के फाद गाजय.How to make Gajar Ki Kanji गाजय को छीर कय. ऩानी सुखाकय 1 इांच के टुकडे काट रीजजमे.आधा छोटी चम्भच  रार मभचि ऩाउडय . खाने से ऩहरे काांजी आऩकी बूख को फढा दे ती है .2 पऩांच (तवे ऩय डारकय बूनकय. ऩीरी सयसों औय तेर मभरा दीजजमे. हल्दी ऩाउडय. गाजय की काांजी (Gajar Ki Kanji) फहुत ही स्वार्दष्ट औय ऩाचक होती है . ऩानी भें डार दीजजमे.Ingredients for Gajar Ki Kanji  गाजय .1 टे फर स्ऩून ववधि . जैसे ही कपय से उफार आ जाम. एक गगरास (400 ग्राभ) ऩानी डारकय गयभ कीजजमे. गैस फन्द कयके गाजय को ढककय 10 मभननट के मरमे यख दीजजमे. अच्छी तयह धो रीजजमे. रार मभचि. ऩानी को ठां डा होने के फाद काांच के कन्टे नय भें डामरमे. अफ हीांग डार कय कन्टे नय का ढक्कन फन्द कय दीजजमे.3 छोटी चम्भच (पऩसी हुई) हीांग . गभी के र्दनों भे मर्द काांजी के कन्टे नय को धऩ ू भें यखें . एक प्मारे भें गाजय के टुकडे डामरमे.400 ग्राभ  ऩानी . Gajar Kanji Recipe आवश्यक सामग्री . Gajar Ki Kanji. How to make Gajar ki Kanji.2 रीटय  नभक .

ऩानी का फहुत ही स्वार्दष्ट खट्टा हो जाना है .तो काांजी 3 र्दन भें ही तैमाय हो जाती है . रेककन अगय भौसभ ठां डा है तफ इसको फनने भें 4-5 र्दन रग जाते हैं. . वह औय अगधक खट्टी नहीां होगी. काांजी के फन जाने के फाद उसे आऩ किज भें यख दीजजमे. काांजी का फनना. जफ बी आऩका भन हो. स्वार्दष्ट काांजी किज से ननकामरमे औय ऩीजजमे. 15 र्दनों तक.

Sign up to vote on this title
UsefulNot useful