You are on page 1of 8

आलेख

ओमप्रकाश कश श काश कशश्यप0 प
ह दी व व्यंग्य ग्य की अवसा
म न लेता हूं कि

हकाश कश सान बेलाP ह त्यिक विधाएं कभी मरती नह

काश कश अवसान बेलाP न बेलाPcom.sunले

काश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कशभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ मरता हूं कि $ न . व अपन प ठकाश कश), लेखकाश कश),

आले+चकाश कश), सान बेलाPम$क्षकाश कश) और प्रशसान बेलाPकाश कश) काश कश बेलाPcom.sun$च सान बेलाPदी व/व 0$वता हूं कि बेलाPcom.sunन$ र ता हूं कि $
अक्ष वट काश कश

0 ता हूं कि

न . भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, -4पश8 काश कश सान बेलाP थ
सान बेलाP ह

म< भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ आता हूं कि

काश कश 5शकाश कश र

1.

भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ सान बेलाP ह

/. सान बेलाPदी व बेलाPcom.sun र, उसान बेलाPकाश कश श ख ओ काश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व4ता हूं कि र काश कश 5सान बेलाPले5सान बेलाPले काश कशभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ थमता हूं कि
व न

रूप ले लेता हूं कि $

1 . 0$वन काश कश ता हूं कि र

उता हूं कि र-च: व काश कश दी व;र

1. काश कशभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ काश कश+ई विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वकाश कश सान बेलाP काश कश ता हूं कि 0 र>ता हूं कि र पकाश कशड़ लेता हूं कि $

+ 0 ता हूं कि $

काश कश+

/. विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, 0बेलाPcom.sun-ता हूं कि बेलाPcom.sun 4थ न प@न भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $

+ता हूं कि $ र ता हूं कि $

/ , काश कशभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ ठ र व

1. 0/सान बेलाP काश कश न$ प ले

ले+काश कशकाश कशथ काश कश रूप म< घर, च;प ले, गले$, नCDकाश कशड़, अले व काश कश आसान बेलाPप सान बेलाP काश कश -सान बेलाPCन$ 0 ता हूं कि $ थ$, हEर

हकाश कशता हूं कि बेलाPcom.sun) म< 5सान बेलाPमटन लेग$. एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश सान बेलाPम

हकाश कश4सान बेलाP ग+ काश कश सान बेलाPम 0 म< सान बेलाPFम न0नकाश कश 4थ न थ .

उनकाश कश न म पर गले$-मC Gले) काश कश न म रख 0 ता हूं कि थ. वक्त काश कश सान बेलाP थ प ले उनकाश कश म न-सान बेलाPFम न
ग , हEर पश . काश कश न$ दी व दी व -दी व दी व , न न -न न$ काश कश म I म सान बेलाP न;5न ले) काश कश मन+र0न काश कशरन
लेग$. इसान बेलाP लेबेलाPcom.sun अता हूं कि र ले म< प्र4ता हूं कि C5ता हूं कि काश कशरण काश कश रूप बेलाPcom.sunदी वले थ , उLश्यप0
उप +5गता हूं कि भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ सान बेलाPम
आ0 व

न . ले+काश कशसान बेलाP ह

काश कश सान बेलाP थ 5नरता हूं कि र परव न च:ता हूं कि $ गई. लेहकाश कशन भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, गम-भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ग काश कश इसान बेलाP

परपर दी वम ता हूं कि +ड़ र

काश कश

Cग म<

/ , च;प ले) पर घट) ता हूं कि काश कश अपन$ हकाश कश4सान बेलाP ग+ई काश कश 0लेव विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने बेलाPcom.sunखरन

व ले हकाश कश4सान बेलाP ग+ अबेलाPcom.sun काश कश

न0र न

आता हूं कि , हकाश कशता हूं कि C पC4ता हूं कि काश कश), पत-पविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश ओ, टले$विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व0न, इटरनट

आहदी व पर काश कश न$ सान बेलाP ह

काश कश प्रमCख विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक काश कश रूप म< अपन सान बेलाPFम न बेलाPcom.sunन एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

सान बेलाP; वN8 प ले ता हूं कि काश कश च;प ई न मकाश कश Oदी व पद्य सान बेलाP ह

काश कश 0 न

/ . च र-सान बेलाP : च र

C आ काश कशरता हूं कि थ . ता हूं कि Cलेसान बेलाP$ न ‘म नसान बेलाP

और 0 सान बेलाP$ न ‘पदी वम वता हूं कि ’ इसान बेलाP$ Oदी व म< रच थ . अता हूं कि Cकाश कश ता हूं कि काश कशविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वता हूं कि काश कश दी व;र म< च;प ई, सान बेलाPव/
0/सान बेलाP Oदी व) काश कश प्र +ग घट

/. इधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकर Oदी वबेलाPcom.sunद्ध काश कशविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वता हूं कि पर

सान बेलाPकाश कशट-सान बेलाP

उद्धरण), हकाश कशवदी व5ता हूं कि ) काश कश रूप म< उनकाश कश प/ठ आ0 भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ प ले त्यिक विधाएं कभी मरती नह0ता हूं कि न$
श$N8काश कश काश कश+ लेकाश कशर व्यंग्य ग्य की अवसा
5च5ता हूं कि ता हूं कि

काश कश प्र5ता हूं कि

+न काश कश आवश्यप0 काश कशता हूं कि न

हदी व अवसान बेलाP दी व0@

/. काश कशCO वNW सान बेलाP व्यंग्य ग्य की अवसा

ले हकाश कश ले+काश कशम नसान बेलाP म<

/ . अता हूं कि T इसान बेलाP लेख काश कश

1 , ता हूं कि + उनकाश कश+ लेकाश कशर बेलाPcom.sun C ता हूं कि

/ . न इसान बेलाPकाश कश U र चVकाश कश न काश कश मर काश कश+ई इर दी व

काश कश बेलाPcom.sun व0दी व इसान बेलाP श$N8काश कश काश कश च न अ@ थ न
हकाश कश

विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वच र उमड़ता हूं कि

/.

/ . इसान बेलाP सान बेलाPबेलाPcom.sun

/ . बेलाPcom.sunत्यिक विधाएं कभी मरती नहGकाश कश काश कश E सान बेलाP+च-विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वच र काश कश उपर ता हूं कि ता हूं कि

काश कश+ लेकाश कशर 0+ विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वच र मर मन म< उठता हूं कि र

काश कशरूग हकाश कश उ@ < इसान बेलाP लेख काश कश म I म सान बेलाP आपकाश कश सान बेलाPमक्ष प्र4ता हूं कि Cता हूं कि काश कशर सान बेलाPकाश कश .

1 , म1 काश कश+5शश

अपन$ सान बेलाPपण8 आश व दी व और सान बेलाPकाश कश र मकाश कशबेलाPcom.sun+धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक काश कश बेलाPcom.sun व0दी व म1 काश कश न च ग हकाश कश ह दी व
व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

सान बेलाPबेलाPcom.sunसान बेलाP बेलाPcom.sunCर दी व;र

/ . ऐसान बेलाP सान बेलाPम

म< 0बेलाPcom.sun

म र सान बेलाPमक्ष अन5गनता हूं कि चCन;5ता हूं कि

त्यिक विधाएं कभी मरती नह0सान बेलाP दी व;र म< व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) काश कश नश्यप0ता हूं कि र काश कश+ और अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश नCकाश कश ले और प्र रकाश कश
लेगभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ग हदी वश

न और 5न4ता हूं कि 0 अव4थ

म<

+न च ह एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, , व

1 . प्र5ता हूं कि काश कशले पYरत्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि ) ता हूं कि थ

त्यिक विधाएं कभी मरती नह0Fमदी व र काश कश रकाश कश) काश कश+ प च न काश कशर, उन पर व्यंग्य ग्य की अवसा

1,

उनकाश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

5लेखन, 0$वन सान बेलाPमर म< आग बेलाPcom.sun:काश कशर

चCन;5ता हूं कि ) काश कश सान बेलाP थ खले खलेन ता हूं कि थ इसान बेलाPकाश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, दी वसान बेलाPर) काश कश+ प्रYरता हूं कि काश कशरन काश कश सान बेलाP मZ 8 व ख+ता हूं कि
0 र

1. व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश+ लेकाश कशर

+न व ले$ ग+विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने [ ), सान बेलाPभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ओ काश कश सान बेलाP\

अखबेलाPcom.sun र) म< उसान बेलाP लेघCकाश कशथ त्यिक विधाएं कभी मरती नह0ता हूं कि न 4पसान बेलाP हदी व

0 ता हूं कि

काश कश व्यंग्य ग्य की अवसा -रचन इधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकर सान बेलाPम च रपत) म< हदी वख ई न
रचन

सान बेलाP बेलाPcom.sunचता हूं कि $

प्रकाश कश 5शता हूं कि
रूप म<

+ता हूं कि $

1.

1. बेलाPcom.sun काश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ व्यंग्य ग्य की अवसा

सान बेलाP मन आता हूं कि $

काश कशम+बेलाPcom.sunश

1 और गCमन म$ म< ख+ 0 ता हूं कि $

त्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि

काश कश+ सान बेलाPमविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने प8ता हूं कि पविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, दी वशभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, र म<

1. मगर मCb

/, मगर व्यंग्य ग्य की अवसा

1 . सान बेलाP ह

मCb सान बेलाPव 85धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश उपत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षता हूं कि लेगता हूं कि

+.

व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश 4वत्यिक विधाएं कभी मरती नहण8म दी व;र 0बेलाPcom.sun

Yरशकाश कशर परसान बेलाP ई, शरदी व 0+श$, रव$द्रन थ

र वग8,

काश कश

मगर मCb काश कश न म< हकाश कश5चता हूं कि सान बेलाPदी व

प ठकाश कश-प्रशसान बेलाPकाश कश

काश कश+ O+ड़काश कशर श दी व

नबेलाPcom.sunर पर रखन काश कश चलेन
हकाश कश

0 ता हूं कि

र वले दी व4ता हूं कि काश कश लेखकाश कश) काश कश+
/ हकाश कश

1, ता हूं कि + व खर सान बेलाP विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने बेलाPcom.sunता हूं कि

ह दी व व्यंग्य ग्य की अवसा

+. ह दी व

ग$ 0/सान बेलाP हदी वग्य की अवसाग0

गएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

1 . वNW प ले

दी वग र रचन मर

सान बेलाPCनकाश कशर श दी व बेलाPcom.sunCर लेग,

काश कश अवसान बेलाP न बेलाPcom.sunले

/ . व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश

काश कश+ लेकाश कशर उनकाश कश मन म<

).

हकाश कशसान बेलाP$ और विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक म< सान बेलाPa0नधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक5म8 ) काश कश+ प ले और दी व सान बेलाPर

+, लेहकाश कशन व्यंग्य ग्य की अवसा

लेखन म<

काश कश म न काश कशवले पर ठसान बेलाPकाश कश काश कश सान बेलाP थ

/, बेलाPcom.sunत्यिक विधाएं कभी मरती नहGकाश कश इसान बेलाPकाश कश+ सान बेलाPम$क्षकाश कश) काश कश म @ ता हूं कि भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ प्र प्त

और दी वसान बेलाPर 4थ न

/ . ख सान बेलाPकाश कशर ता हूं कि बेलाPcom.sun 0बेलाPcom.sun

रचन त्यिक विधाएं कभी मरती नह0सान बेलाPम< उ@ )न मCग 8 काश कश बेलाPcom.sun न

+न काश कश न ता हूं कि म1 च ग हकाश कश इसान बेलाPकाश कश वता हूं कि 8म न पYरदृश्यप0

हदी व काश कशCO खCशE 5म
व्यंग्य ग्य की अवसा

/ . व काश कशgलेम0$व$ बेलाPcom.sunनकाश कशर र

काश कशसान बेलाP थ , काश कश अले व उनकाश कश काश कश+ई और

गC0र . ह दी व व्यंग्य ग्य की अवसा

0 एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, ता हूं कि +

/ . e न चता हूं कि Cवfदी व सान बेलाP उFम$दी व थ$. मगर उनकाश कश

व विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने N8काश कश म< प्रकाश कश 5शता हूं कि एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश व्यंग्य ग्य की अवसा

सान बेलाPम 0 और र 0न$5ता हूं कि पर व्यंग्य ग्य की अवसा
न0र सान बेलाP न

+ चCकाश कश

+, प ठकाश कश)

र उम्र काश कश प ठकाश कश उसान बेलाPकाश कश+ पसान बेलाPदी व काश कशरता हूं कि

व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र थ, काश कश व पसान बेलाP$ काश कश आ ट ता हूं कि काश कश न
टC h’ काश कश सान बेलाP ह

आता हूं कि हकाश कश

काश कश दी वसान बेलाPर विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक ओ काश कश सान बेलाP थ भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $

काश कश प ठकाश कशवग8 विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वश ले

‘इहh

दी व न

+. प्र +त्यिक विधाएं कभी मरती नह0ता हूं कि विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वमश8 काश कश+ O+ड़ हदी व

व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कशलेम काश कश धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक र काश कशभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ काश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, Vथर

1 . पC4ता हूं कि काश कश

काश कशa5ता हूं कि न ह दी व -सान बेलाPम 0 म< व्यंग्य पकाश कश चच 8 बेलाPcom.sunट+र

और सान बेलाPम$क्षकाश कश) काश कश मन सान बेलाPम नरूप सान बेलाP म+
पC4ता हूं कि काश कश< आता हूं कि $

सान बेलाP; श]दी व) सान बेलाP अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश श]दी व)

काश कश+ हकाश कशसान बेलाP$ न हकाश कशसान बेलाP$ रूप म< प्रकाश कश 5शता हूं कि काश कशरता हूं कि $

वNW म< हकाश कशसान बेलाP$ व्यंग्य ग्य की अवसा

/.

दी वता हूं कि $ . पविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, 1000-1500 श]दी व) सान बेलाP बेलाPcom.sunड़

ले हकाश कश आ0 भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ दी व08न-भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, र व्यंग्य ग्य की अवसा

र वN8 पच 5सान बेलाP ) व्यंग्य ग्य की अवसा -काश कशa5ता हूं कि

विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पOले प च-O

/ . प च-O

5नरता हूं कि र घट र

/ . ता हूं कि दी वनCसान बेलाP र इसान बेलाP विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक म< प ले

Yरशकाश कशर परसान बेलाP ई और शरदी व 0+श$ काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, सान बेलाPCरत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षता हूं कि

म र -म र म< k$ले ले शCDले और रव$द्रन थ

ग$ आ 0 ता हूं कि

/ . ता हूं कि $सान बेलाPर-च;थ काश कश

1 . प्रथम च र म< प ले दी व+ लेखन

काश कश+ सान बेलाPमविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने प8ता हूं कि l ले सान बेलाPर थ ता हूं कि + बेलाPcom.sun काश कश दी व+ सान बेलाPरकाश कश र काश कश वYर[ ओ दी वदी व र. प चव-Oठ काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेबेलाPcom.sun$
काश कशता हूं कि र

/. रव$द्रन थ

ग$ प चव 4थ न लेता हूं कि $E घ)घ$ काश कश+ दी वता हूं कि

1 . 4ता हूं कि र काश कशरण काश कश इसान बेलाP परपर

काश कश+ व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) और व्यंग्य ग्य की अवसा -सान बेलाPम$क्षकाश कश) काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, O+ड़ म1 काश कश न च ग हकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा
क्षमता हूं कि परसान बेलाP ई और 0+श$ काश कश रचन ओ म<
क्षमता हूं कि

/ , बेलाPcom.sun काश कश हकाश कशसान बेलाP$ व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र काश कश प सान बेलाP न ता हूं कि + व/सान बेलाP$

/, न दृविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने m. परसान बेलाP ई अपन$ दी वश0 श/ले$ म< म रकाश कश

त्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि ) काश कश+ पकाश कशड़न काश कश सान बेलाPnम दृविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने m

काश कश 0+ म रकाश कश

1 ता हूं कि + शरदी व काश कश प सान बेलाP व्यंग्य ग्य की अवसा

/. दी व+न) काश कश ता हूं कि काश कशता हूं कि 5नभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, oकाश कश प्र4ता हूं कि C5ता हूं कि म<

मकाश कश

/. रव$द्रन थ

ग$ अपन$ न;काश कशर काश कश सान बेलाP$म ओ काश कश चलेता हूं कि सान बेलाP$धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक प्र र काश कशरन सान बेलाP काश कशता हूं कि र ता हूं कि र . सान बेलाPरले$काश कशरण काश कश

5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, उ@ )न

4 -5म5kता हूं कि व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश शरण ले$. इसान बेलाPकाश कश बेलाPcom.sun व0दी व 0बेलाPcom.sun व अपन$ रगता हूं कि म<

ले 0व बेलाPcom.sun

1. k$ले ले शCDले ‘र गदी वरबेलाPcom.sun र ’ म< 5सान बेलाPमट

ता हूं कि काश कश न

लेता हूं कि . सान बेलाP ह

काश कश काश कश रण

1 . उसान बेलाPसान बेलाP बेलाPcom.sun र उनकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र काश कशरवट

अकाश कश दी वम$ पCर4काश कश र काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, इसान बेलाP उप@ सान बेलाP काश कश र

‘आधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक ग व’ सान बेलाP 4पधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक 8 थ$. उसान बेलाP सान बेलाPम

) ता हूं कि +

शCDले 0$ काश कश अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश र

म सान बेलाPम र0 काश कश

+न काश कश म आ . इसान बेलाP उप@ सान बेलाP

शCDले 0$ काश कश+ ह दी व काश कश श$N84थ व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) म< प च न 5मले$. शकाश कशर पCणता हूं कि बेलाPcom.sunकाश कशर

और लेता हूं कि $E घ)घ$ न 5लेख खबेलाPcom.sun, परता हूं कि C उनकाश कश प सान बेलाP विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वट काश कश काश कशम$ थ$. सान बेलाP थ म< विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वN

काश कश

सान बेलाP$म एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $.
परसान बेलाP ई और 0+श$ काश कश श/ले$ म< भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ मलेभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ता हूं कि अता हूं कि र थ . परसान बेलाP ई काश कश प रसान बेलाP ई ले+काश कशता हूं कि व

काश कश+ सान बेलाP थ लेकाश कशर चलेता हूं कि $

/. व

सान बेलाP 0 हकाश कश4सान बेलाP ग+ई भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, र दी वता हूं कि

उनकाश कश रचन ओ काश कश+ अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश सान बेलाPप्रNण$

और p qT बेलाPcom.sunन काश कशर उनम<

/. उनकाश कश व/च Yरकाश कश प्र5ता हूं कि बेलाPcom.sunद्धता हूं कि रचन काश कश प्र र क्षमता हूं कि काश कश+ बेलाPcom.sun: ता हूं कि $

/, उसान बेलाP 4व भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वकाश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व4ता हूं कि र दी वता हूं कि $

/. अता हूं कि $ता हूं कि और वता हूं कि 8म न दी व+न) काश कश प्र5ता हूं कि विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने ववकाश कशसान बेलाPFमता हूं कि

आले+चन दृविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने m, 0+ शरदी व 0+श$ म< उनसान बेलाP काश कशम और बेलाPcom.sun काश कश रचन काश कश र) त्यिक विधाएं कभी मरती नह0@ < उन दी व+न) सान बेलाP 5नचले
क्रम म< हदी वख

0 ता हूं कि

/, अ

Gप

विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वसान बेलाPग5ता हूं कि ) सान बेलाP अपन आप उभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, रता हूं कि
प खh रचन व ले) काश कश

खबेलाPcom.sunर लेता हूं कि

वक्र+विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त ) सान बेलाP बेलाPcom.sunच न
5नश न सान बेलाP धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकता हूं कि

अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश प्रभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व$

1 ता हूं कि + म sसान बेलाPव हदी व ) काश कश

/. व धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 काश कश न म पर

Oद्म क्र 5ता हूं कि काश कश Yरता हूं कि

भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ उनकाश कश

प ता हूं कि $. ‘र न$ न गEन$ काश कश काश कश न$’ काश कश म I म सान बेलाP व सान बेलाP मता हूं कि व दी व पर

+ता हूं कि $

1. भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, रता हूं कि $

व्यंग्य पकाश कश और बेलाPcom.sun C आ म$
C एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

/ . इसान बेलाP काश कश रण व

1. उनकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा

1. ‘भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, +ले र म काश कश 0$व’ ता हूं कि थ ‘व/vणव काश कश हEसान बेलाPलेन’ म< उनकाश कश सान बेलाP मन धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक 5म8काश कश

प खh और रूह:
0म एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

/. परसान बेलाP ई त्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि ) पर च+ट काश कशरता हूं कि

सान बेलाPम 0 काश कश चYरत 5नम 8ण म< चहकाश कश धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 काश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, 5मकाश कश बेलाPcom.sun C ता हूं कि

/. उसान बेलाPम< लेबेलाPcom.sun सान बेलाPम

सान बेलाP अनकाश कश काश कशCर 5ता हूं कि , w 5ता हूं कि

और आhबेलाPcom.sunर 0ड़

1. परसान बेलाP ई उनकाश कश सान बेलाP मन bCकाश कशता हूं कि न . रूह: ) और प खh) पर 5लेखता हूं कि सान बेलाPम

काश कशलेम और भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ नCकाश कश ले$

+ 0 ता हूं कि $

/. व

व सान बेलाP$धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक व्यंग्य व4थ पर प्र र काश कशरता हूं कि

उनकाश कश

1. विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वट ता हूं कि + शरदी व

0+श$ काश कश प सान बेलाP भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ खबेलाPcom.sun थ . ‘अता हूं कि aप्त आ म ओ काश कश रले त ’ म< उ@ )न धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक 5म8काश कश प खh काश कश+ ता हूं कि रता हूं कि र हकाश कश

/. धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 काश कश न म पर हदी वख व काश कशरन व ले सान बेलाP धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकCओ काश कश खबेलाPcom.sunर ले$

ऐसान बेलाP$ रचन ओ काश कश ख0 न
प/म इश म< अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश काश कशरता हूं कि
लेहकाश कशन दी वले$

/ . परसान बेलाP ई काश कश प सान बेलाP

/. शरदी व 0+श$ अपन$ लेखन ऊ0 8 काश कश उप +ग र 0न$5ता हूं कि काश कश

1, उनकाश कश लेगभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ग सान बेलाPत्तर प्र5ता हूं कि शता हूं कि सान बेलाP ह

र 0न$5ता हूं कि काश कश+ लेत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षता हूं कि

/.

र 0न$5ता हूं कि काश कश प्र5ता हूं कि ता हूं कि ट4थता हूं कि काश कश अभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व म< व सान बेलाPत्त -विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वर+धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक काश कश व/सान बेलाP रूपकाश कश न

रच प ता हूं कि 0+ परसान बेलाP ई अपन$ ले+काश कशश
ऊच वग8 काश कश अन च र

काश कश र; म< सान बेलाP 0 ले आता हूं कि थ. परसान बेलाP ई काश कश रचन ओ म<

/. ‘0$प पर सान बेलाPव र इत्यिक विधाएं कभी मरती नहGले ’ म< शरदी व 0+श$ wm च र काश कश मCL) पर अपन$

0म$न$ पकाश कशड़ काश कश प्रम ण दी वता हूं कि

1, त्यिक विधाएं कभी मरती नह0सान बेलाPसान बेलाP उनकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कशCO-काश कशCO इले$ट बेलाPcom.sunन 0 ता हूं कि

बेलाPcom.sun व0दी व अपन$ दी व ता हूं कि $ काश कशड़काश कश म< परसान बेलाP ई उनपर सान बेलाPव
भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ परसान बेलाP ई काश कश व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश+ सान बेलाPमb सान बेलाPकाश कशता हूं कि

हदी वम ग$ काश कशसान बेलाPरता हूं कि काश कशरन$ पड़ सान बेलाPकाश कशता हूं कि $

/ , 0बेलाPcom.sunहकाश कश अ@

व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) काश कश थ

प: -5लेख व्यंग्य विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त
काश कश+ प न काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

काश कशलेम काश कश+ अपन$ आ0$विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वकाश कश काश कश म I म बेलाPcom.sunन

थ . दी व+न) काश कश लेखन त्यिक विधाएं कभी मरती नह0न हदी वन) परव न च: र
k दी वख र

1 . एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश सान बेलाP म @

/.

परसान बेलाP ई और शरदी व 0+श$ दी व+न) न

दी वश उन सान बेलाPपन) काश कश

पड़ता हूं कि

/. इसान बेलाPकाश कश

थ , सान बेलाPम 0 म< 4वzनभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ग काश कश अव4थ म< थ .

थ , 0+ 4व धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक$नता हूं कि सान बेलाPp म काश कश दी व;र न नता हूं कि ओ U र हदी वख एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

गएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, थ. उनम< न रू काश कश पचश$ले काश कश न र भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ थ , 0+ च$न सान बेलाP 5मले$ बेलाPcom.sunCर 5शकाश कश4ता हूं कि काश कश बेलाPcom.sun दी व
ता हूं कि र-ता हूं कि र

+ चCकाश कश थ . दी वश काश कश 0नता हूं कि सान बेलाPकाश कशता हूं कि 0/सान बेलाP$

अकाश कशले नता हूं कि ओ काश कश

/, उन ले+ग) काश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $

त्यिक विधाएं कभी मरती नह0Fमदी व र काश कश सान बेलाP थ सान बेलाPसान बेलाPदी व म< भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, 0ता हूं कि
बेलाPcom.sun0

उसान बेलाPकाश कश 0 5ता हूं कि , धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8

लेता हूं कि म< थ$. परसान बेलाP ई दी वख र

/ 0+ उ@ < चCनकाश कशर अपन भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वv

1 , लेहकाश कशन मता हूं कि दी व न काश कश सान बेलाPम

सान बेलाP म त्यिक विधाएं कभी मरती नह0काश कश

/5सान बेलाP ता हूं कि काश कश अनCसान बेलाP र 5नण8

भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ थ 0+ विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, 0न काश कश दी व;र न एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश -दी वसान बेलाPर काश कश खन काश कश z सान बेलाP
म;लेविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व ), ता हूं कि विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश) और प दी वYर ) काश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $

थ हकाश कश दी व+N
सान बेलाPव रन काश कश

उFम$दी वव र काश कश चYरत काश कश
लेता हूं कि

1 . उन ले+ग) म< व

+ उठ थ. दी व+N उन पC0 Yर ),

/ 0+ 4व थ8 काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 काश कश न म पर प खh रचता हूं कि

ता हूं कि थ ले+ग) काश कश+ बेलाPcom.sunरगले ता हूं कि ता हूं कि थ प्रकाश कश र ता हूं कि र म< उनकाश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, वन मकाश कश, आ5थ8काश कश, सान बेलाP म त्यिक विधाएं कभी मरती नह0काश कश श+Nण
काश कशरता हूं कि

1. व 0 नता हूं कि थ हकाश कश धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 और 0 5ता हूं कि 0/सान बेलाP$ सान बेलाP4थ ओ काश कश सान बेलाPदी व श ता हूं कि काश कश+ लेकाश कशर च

दी व व हकाश कशएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, 0 एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, , अपन$ मले सान बेलाPरचन म<
विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, 0न उसान बेलाPकाश कश+ म0बेलाPcom.sunता हूं कि $ प्रदी व न काश कशरता हूं कि
सान बेलाPह vणCता हूं कि पर

+ता हूं कि

/. पYरण म4वरूप व

र धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 सान बेलाP मता हूं कि व दी व काश कश प+Nण काश कशरता हूं कि

/ . धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 काश कश

प ले

/ . 0 ता हूं कि $

व्यंग्य विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त काश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने ववकाश कश और

अपन$ दी वदी व
C 8श काश कश काश कश रण) काश कश प च न पर भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ;5ता हूं कि काश कश ,

असान बेलाP सान बेलाP Yरकाश कश शविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त ) काश कश रूप म< काश कशरन लेगता हूं कि

/, त्यिक विधाएं कभी मरती नह0सान बेलाPसान बेलाP दी वरC व4थ काश कश व 4ता हूं कि विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वकाश कश त्यिक विधाएं कभी मरती नह0Fमदी व र

शविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त ) काश कश+ मनम न$ काश कशरता हूं कि र न काश कश अवसान बेलाPर 5मले 0 ता हूं कि
प0$प5ता हूं कि धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक 5म8काश कश प खh काश कश+ सान बेलाPरक्षण प्रदी व न काश कशरता हूं कि
च ता हूं कि

मले

0+

/ . 5नह ता हूं कि 4व थ8 काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, सान बेलाP मता हूं कि और

1 . व्यंग्य विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्तम त काश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने ववकाश कश काश कशरण न बेलाPcom.sun 0 र

/, न र 0न$5ता हूं कि e और न प0$प5ता हूं कि . बेलाPcom.sun 0 र काश कश+ उपभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, +क्त च ह एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, , र 0न$5ता हूं कि e) काश कश+

मता हूं कि दी व ता हूं कि —ऐसान बेलाP 0+ काश कशभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ काश कश+ई ता हूं कि काश कश8 न काश कशर<. काश कशठपCता हूं कि ले$ काश कश ता हूं कि र
काश कश I न 0$वन सान बेलाPम4 ओ और उसान बेलाPकाश कश काश कश रकाश कश) सान बेलाP
और श+Nण काश कश सान बेलाP

इश र) पर न च< . धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 आदी वम$

ट काश कशर व व$ दी व 5C न

काश कश ओर ले 0 ता हूं कि

काश कश, उ प$ड़काश कश और सान बेलाPरक्षकाश कश काश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, 5मकाश कश एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश सान बेलाP थ 5नभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ता हूं कि

/

/ . इसान बेलाP सान बेलाPमb

काश कश सान बेलाP थ परसान बेलाP ई न धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 और र 0न$5ता हूं कि दी व+न) काश कश+ अपन$ आले+चन काश कश दी व र म< रख और
व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश 5सान बेलाPद्ध काश कशलेमकाश कश र बेलाPcom.sunन.

‘नवभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, रता हूं कि ट इFसान बेलाP’ म< ‘प्र5ता हूं कि हदी वन’ 5लेखन सान बेलाP प ले 0+श$ ‘नई दी व 5C न ’ काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कशgलेम

5लेख काश कशरता हूं कि थ. व ता हूं कि बेलाPcom.sun भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ व्यंग्य ग्य की अवसा
बेलाPcom.sunड़ प ठकाश कश सान बेलाPम

काश कश मCखर

4ता हूं कि क्षर थ. ‘प्र5ता हूं कि हदी वन’ 5लेखन काश कश दी व;र न ह दी व काश कश

सान बेलाP उनकाश कश सान बेलाP बेलाPcom.sunकाश कश पड़ . उन हदी वन) भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, रता हूं कि $

0नता हूं कि र 0न$5ता हूं कि काश कश खले दी वखकाश कशर

/र न थ$. आप ता हूं कि काश कश ले थ+पन काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, इहदी वर ग धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक$ काश कश+ सान बेलाP0 दी वन व ले$ 0नता हूं कि , ‘0नता हूं कि प ट|’

काश कश नता हूं कि ओ काश कश उ}~खलेता हूं कि और आपसान बेलाP$ ख$चता हूं कि न सान बेलाP उकाश कशता हूं कि चCकाश कश थ$. विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वकाश कशGप काश कश अभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व म<
उसान बेलाPन पCनT इहदी वर ग धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक$ काश कश+ सान बेलाPत्त सान बेलाPVप$ थ$. हEर एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश ऐ5ता हूं कि 5सान बेलाPकाश कश घटन क्रम काश कश दी व;र न इहदी वर
ग धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक$ काश कश

, सान बेलाP नCभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, 5ता हूं कि काश कश ले र काश कश चलेता हूं कि र 0$व ग धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक$ काश कश ता हूं कि 0प+श$ काश कश+ भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ उसान बेलाPन दी वख

थ . ‘0नता हूं कि

प ट|’ काश कश प्र +ग काश कश रूप म< असान बेलाPEले

विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वश्वन थ प्रता हूं कि प 5सान बेलाP

+ चCकाश कश

दी वत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षणपथ$ शविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त

काश कश प$O ले मबेलाPcom.sunदी व थ$, 0+ पर दी वश म< र 0$व ग धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक$ काश कश र 0न$5ता हूं कि काश कश

अपYरपDवता हूं कि और उनकाश कश श सान बेलाPन म< पले र
0+श$ विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वश्वन थ प्रता हूं कि प 5सान बेलाP

wm च र काश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वरुद्ध अलेख 0ग न म< लेग थ . शरदी व

काश कश व्यंग्य विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त व सान बेलाP सान बेलाPFम+ह ता हूं कि थ. उ@ )न र 0$व ग धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक$ काश कश र 0न$5ता हूं कि काश कश

अपYरपDवता हूं कि सान बेलाP उ प@न त्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि ) ता हूं कि थ बेलाPcom.sun दी व म< विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वश्वन थ प्रता हूं कि प 5सान बेलाP
रच 0 र

इसान बेलाP बेलाPcom.sun र

काश कश सान बेलाPरकाश कश र काश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वरुद्ध

काश कश pसान बेलाP$-ग/रकाश कश p5सान बेलाP ) काश कश N• त पर ता हूं कि $ख प्र र हकाश कशएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, . ‘प्र5ता हूं कि हदी वन’ काश कश ले+काश कशविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने प्र ता हूं कि काश कश

सान बेलाP थ ‘नवभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, रता हूं कि ट इFसान बेलाP’ और शरदी व 0+श$ काश कश न म भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ ले+ग) काश कश 0CबेलाPcom.sun न पर O न लेग . काश कश
0 सान बेलाPकाश कशता हूं कि

/ हकाश कश शरदी व 0+श$ म< र 0न$5ता हूं कि काश कश पYरपDवता हूं कि थ$. बेलाPcom.sun र काश कश अ@व$क्षण काश कश क्षमता हूं कि थ$

उनम<. इसान बेलाP5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, उनकाश कश काश कशgलेम व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश सान बेलाP थ-सान बेलाP थ र 0न$5ता हूं कि काश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व‚Nण काश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ आनदी व दी वता हूं कि थ.

‘प्र5ता हूं कि हदी वन’ काश कश ले+काश कशविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने प्र ता हूं कि काश कश काश कश रण भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $

थ , लेहकाश कशन उसान बेलाPकाश कश बेलाPcom.sunड़ ह 4सान बेलाP काश कश ग ƒरसान बेलाP विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वर+धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक

और प्रकाश कश र ता हूं कि र म< र 0$व ग धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक$ काश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वर+धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक ता हूं कि काश कश सान बेलाP$5मता हूं कि थ . एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश अ}O सान बेलाP ह
प्र5ता हूं कि पक्ष म< र ता हूं कि

/. परसान बेलाP ई सान बेलाPदी व/व प्र5ता हूं कि पक्ष काश कश+ सान बेलाP धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकता हूं कि र . दी वले विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वशN काश कश सान बेलाPमथ8न-विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वर+धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक

शरदी व 0+श$ काश कश+ त्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि ) काश कश बेलाPcom.sun र काश कश अ@व$क्षण-विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व‚Nण काश कश अवसान बेलाPर ता हूं कि + दी वता हूं कि
सान बेलाP$म ओ काश कश+ सान बेलाPकाश कशC5चता हूं कि भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ काश कशरता हूं कि
सान बेलाPव ई पड़ता हूं कि $

काश कश र सान बेलाPत्त काश कश

/, लेहकाश कशन उनकाश कश

/. इसान बेलाP5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, परसान बेलाP ई काश कश प रसान बेलाP ई 0+श$ काश कश ‘न वकाश कश काश कश ता हूं कि $र’ पर

/. परसान बेलाP ई और 0+श$ काश कश अले व

भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ अनकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) न सान बेलाPम च रपत) म<

5न 5मता हूं कि काश कशgलेम लेखन हकाश कश , लेहकाश कशन प्र5ता हूं कि बेलाPcom.sunद्ध दृविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने m काश कश अभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व म< व अपत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षता हूं कि सान बेलाPEलेता हूं कि प न म<

न काश कश म र . इसान बेलाP काश कशम$ काश कश+ काश कशCO व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) न ‘ 4 -व्यंग्य ग्य की अवसा ’ 5लेखकाश कशर प टन काश कश काश कश+5शश काश कश ,
त्यिक विधाएं कभी मरती नह0सान बेलाPकाश कश ख 5म 0 अता हूं कि ता हूं कि T व्यंग्य ग्य की अवसा -विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक काश कश+ उठ न पड़ .
‘काश कशgलेम लेखन’ न ह दी व व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश+ ले+काश कशविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने प्र

बेलाPcom.sunन

. उसान बेलाPकाश कश+ ढेर सारे पाठक भी दिए. लेकिन एक गंभीर मानी जाने वाली विर सान बेलाP र प ठकाश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ हदी वएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, .

लेहकाश कशन एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश गभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $र म न$ 0 न व ले$ विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक काश कश ले+काश कशविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने प्र ता हूं कि काश कश hगर पर चले पड़न , अता हूं कि ता हूं कि T
उसान बेलाP$ काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

5नकाश कशर 5सान बेलाPद्ध

सान बेलाPभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ सान बेलाPम च रपत) न व्यंग्य ग्य की अवसा

C आ. ‘नई दी व5C न ’ और ‘नवभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, रता हूं कि ट इFसान बेलाP’ काश कश दी वख -दी वख$ लेगभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ग

काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कशgलेम ता हूं कि

काश कशर हदी वएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, . व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, अ5भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व्यंग्य विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त काश कश

र 4ता हूं कि खCलेता हूं कि गएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, . उसान बेलाPन व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) काश कश बेलाPcom.sunड़ प;धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक ता हूं कि / र काश कश , लेहकाश कशन सान बेलाPम च रपत) काश कश+ व्यंग्य ग्य की अवसा
बेलाPcom.sun0

बेलाPcom.sun 0 र सान बेलाP म+

थ . इसान बेलाP5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, उ@ < उता हूं कि न

लेबेलाPcom.sun व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश दी वरकाश कश र थ$, त्यिक विधाएं कभी मरती नह0सान बेलाPकाश कश+ प ठकाश कश

खड़-खड़ बेलाPcom.sun च सान बेलाPकाश कश. उनकाश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, व्यंग्य ग्य की अवसा -रचन काश कश म …व दी व वता हूं कि म< चटन$
ह दी व व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र उसान बेलाP$ काश कश+ अपन लेn

काश कश

अच र त्यिक विधाएं कभी मरती नह0ता हूं कि न थ .

म नकाश कशर अपन$ ऊ0 8 खप न लेग. पYरण म

Cआ

हकाश कश काश कशgलेम काश कश सान बेलाP$म -रख सान बेलाP बेलाPcom.sun र काश कश रचन एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, 5लेखन , सान बेलाPम च रपत-पविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश ओ काश कश श]दी व सान बेलाP$म

काश कश+ ले घकाश कशर अपन और प ठकाश कश) काश कश मन+नCकाश कशले लेखन काश कशरन —ह दी व व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, मCत्यिक विधाएं कभी मरती नहश्यप0काश कशले
+ता हूं कि ग . Oप सान बेलाP-म+

‘उ प दी व’

सान बेलाP p4ता हूं कि लेखकाश कश भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ले गएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, हकाश कश म$हh

/, त्यिक विधाएं कभी मरती नह0सान बेलाPकाश कश U र व

काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, व्यंग्य ग्य की अवसा

अपन काश कशCO नएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, उपभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, +क्त बेलाPcom.sunन सान बेलाPकाश कशता हूं कि

काश कशवले एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश

/ . उसान बेलाPकाश कश+ व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश

म रकाश कश क्षमता हूं कि , उसान बेलाPकाश कश उLश्यप0 परकाश कशता हूं कि सान बेलाP काश कशCO लेन -दी वन न
I न काश कश<हद्रता हूं कि रखता हूं कि

/, 0+ उसान बेलाPकाश कश काश कश म काश कश

4व थ8-5सान बेलाPविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने द्ध काश कश आड़ न आता हूं कि
काश कश प्र सान बेलाP काश कशरता हूं कि

/. बेलाPcom.sun 0 र सान बेलाPदी व/व उन व4ता हूं कि Cओ पर

). उन काश कश W काश कश+ बेलाPcom.sun: व दी वता हूं कि

/ 0+ उसान बेलाPकाश कश

). 0+ भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ व4ता हूं कि C अथव विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वच र उसान बेलाPकाश कश सान बेलाPCखसान बेलाPत्त काश कश+ चCन;ता हूं कि $ दी वन

/, उसान बेलाPकाश कश च र) ओर व

इता हूं कि न म न और म रकाश कश 0 ले विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने बेलाPcom.sunO ता हूं कि

सान बेलाP अ}O विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वU न, अथ8श †$ और सान बेलाPम 0विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वe न$ धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक+ख ख 0 ता हूं कि

/ हकाश कश अ}O

1 . सान बेलाPम च रपत) U र व्यंग्य ग्य की अवसा -

काश कशgलेम) काश कश+ प्रमCखता हूं कि दी वन उनकाश कश अपन 4व थ8 थ . सान बेलाPकाश कशC8लेशन’ काश कश 4पधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक 8 काश कश बेलाPcom.sun$च हकाश कशसान बेलाP$ भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $
ता हूं कि र

बेलाPcom.sun 0 र सान बेलाP अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश 5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश प ठकाश कश बेलाPcom.sunट+र लेन . 0/सान बेलाP-0/सान बेलाP सान बेलाPम च रपत-पविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश ओ काश कश ‘‡ h’

सान बेलाPEले

+न लेग , उ@ )न व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश प्र5ता हूं कि उपक्ष दी वश 8न आरभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, काश कशर हदी व . व्यंग्य ग्य की अवसा -काश कश लेम) काश कश

प्रबेलाPcom.sunधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकन काश कश त्यिक विधाएं कभी मरती नह0Fमदी व र ऐसान बेलाP काश कशम8च Yर ) काश कश+ सान बेलाPVप$ 0 न लेग$ त्यिक विधाएं कभी मरती नह0@ < न ता हूं कि + व्यंग्य ग्य की अवसा
न उनम< सान बेलाP ह त्यिक विधाएं कभी मरती नह

काश कश रचन मकाश कशता हूं कि

थ$. पYरण म4वरूप व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश सान बेलाPमb थ$,

काश कश ˆलेम) काश कश रचन ओ काश कश 4ता हूं कि र

5गरन लेग . इसान बेलाPकाश कश प्र5ता हूं कि काश कशले प्रभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व उसान बेलाPकाश कश ले+काश कशविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने प्र ता हूं कि पर भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ पड़ . ऊपर सान बेलाP बेलाPcom.sun$सान बेलाPव$ शता हूं कि ]दी व

काश कश अ5ता हूं कि म दी वशकाश कश म< प0$व दी व न 0/सान बेलाP -0/सान बेलाP अपन प्रभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व 0म न आरभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, हकाश कश , नकाश कश र और
आले+चन काश कश+ ‘अनC प दी वकाश कशता हूं कि ’ एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, व ‘अनCश सान बेलाPन नता हूं कि ’ काश कश प 8

म न 0 न लेग . प0$व दी व

प्रYरता हूं कि ‘सान बेलाPकाश कश र मकाश कश सान बेलाP+च’ काश कश प्र5ता हूं कि सान बेलाPFम+ न ऐसान बेलाP बेलाPcom.sun: हकाश कश असान बेलाP म5ता हूं कि काश कश+ भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ नकाश कश र काश कश प्रता हूं कि $काश कश
बेलाPcom.sunन गई. ‘बेलाPcom.sun$ प ˆत्यिक विधाएं कभी मरती नह0हटव’ विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वकाश कश सान बेलाP और प्रबेलाPcom.sunधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकनकाश कशले काश कश मलेमत म न 5ले
व्यंग्य ग्य की अवसा

0+ ‘नकाश कश र’ काश कश र 4ता हूं कि ‘5नम 8ण’ काश कश+ सान बेलाPमविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने प8ता हूं कि

+ता हूं कि

/ उपत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षता हूं कि

ग . पYरण म4वरूप

+न लेग . व्यंग्य ग्य की अवसा -काश कशgलेम)

काश कश आकाश कशर 5सान बेलाPकाश कशCड़न लेग. शरदी व 0+श$ काश कश 0म न म< 0+ काश कशgलेम सान बेलाP ता हूं कि -आठ सान बेलाP; श]दी व) काश कश 0ग
लेता हूं कि थ , व
म+ भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ग

+न

सान बेलाP प ले सान बेलाP

h:-दी व+ सान बेलाP; श]दी व) पर 5सान बेलाPमट ग . इसान बेलाPसान बेलाP गभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $र व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) काश कश काश कशgलेम लेखन सान बेलाP
थ.

उGलेख काश कशरन प्र सान बेलाP5गकाश कश

5लेख 0 र

खबेलाPcom.sunर ले एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

1’ 5लेखता हूं कि आ र

+ग हकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कशgलेम शरदी व और परसान बेलाP ई

थ. ग+प ले प्रसान बेलाP दी व व्यंग्य सान बेलाP ‘दी व/5नकाश कश ह दी व4
C ता हूं कि न’ म< असान बेलाPf सान बेलाP ‘न रदी व 0$
थ. लेहकाश कशन व्यंग्य सान बेलाP 0$

4

काश कशविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व थ. उनकाश कश लेखन म< विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वट काश कश

अभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व थ . दी वसान बेलाPर उनकाश कश अता हूं कि $ता हूं कि काश कश प्र5ता हूं कि अ5ता हूं कि रकाश कश सान बेलाPFम+ न भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ गभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $र व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र बेलाPcom.sunनन काश कश
सान बेलाPबेलाPcom.sunसान बेलाP बेलाPcom.sunड़ बेलाPcom.sun धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक थ .
व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश अवसान बेलाP न+@मCख$ अव4थ ता हूं कि काश कश प Cच न काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, र 0न$5ता हूं कि काश कश पYरवता हूं कि 8न) काश कश

+गदी व न भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ काश कशम न थ . शरदी व 0+श$ काश कश लेखन काश कश इता हूं कि न प्रभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व र

हकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा

मC\ ता हूं कि T

र 0न$5ता हूं कि और wm च र ता हूं कि काश कश 5सान बेलाPमट ग . चहकाश कश अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश श व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र न;काश कशर पश मI वग8 सान बेलाP
थ, इसान बेलाP5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ काश कश

0 सान बेलाPकाश कशता हूं कि

/ हकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) न अपन$ अ5भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व्यंग्य विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त काश कश सान बेलाPबेलाPcom.sunसान बेलाP सान बेलाPCरत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षता हूं कि

काश कश+न चCन थ . धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 काश कश न म पर आhबेलाPcom.sunर, 0 5ता हूं कि गता हूं कि विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, 0न, सान बेलाP प्रदी व 5 काश कशता हूं कि , ऊच-न$च, सान बेलाPम 0
म< उत्तर+त्तर 0ड़ 0म ता हूं कि प0$व दी व और उपभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, +क्त व दी व, सान बेलाPरकाश कश र U र
अता हूं कि रर ‰$

बेलाPcom.sun C र ‰$

काश कशप5न ),

मCद्र काश कश+श काश कश सान बेलाPमक्ष 5नTशता हूं कि 8 सान बेलाPमप8ण , सान बेलाPम 0 म< 5नरता हूं कि र काश कशम0+र पड़ता हूं कि न गYरकाश कशबेलाPcom.sun+धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक

0/सान बेलाP$ प्रमCख सान बेलाPम4 ओ पर व प्र T म;न सान बेलाP धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक र

1. भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ƒरण

, घटता हूं कि ले15गकाश कश अनCप ता हूं कि 0/सान बेलाP

विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वN ) पर अ}OŠ ता हूं कि + अ}OŠ सान बेलाP धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक रण काश कश+हट काश कश रचन एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ दी वखन काश कश+ न
1992 म< बेलाPcom.sun बेलाPcom.sunर म त्यिक विधाएं कभी मरती नह40दी व काश कश Iवसान बेलाP काश कश सान बेलाPम

भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ ऐसान बेलाP$ त्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि

5मले$. बेलाPcom.sun$च म<

बेलाPcom.sunन$ थ$, 0बेलाPcom.sun व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र

सान बेलाPरकाश कश र और प्रश सान बेलाPन काश कश+ आड़ लेकाश कशर सान बेलाP ह त्यिक विधाएं कभी मरती नह
C आ. ‘भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, रता हूं कि $

5ले

0नता हूं कि प ट|’ काश कश श सान बेलाPनकाश कश ले म< ता हूं कि + अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश श व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) न सान बेलाPभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, वता हूं कि T म न

थ हकाश कश उनकाश कश अभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $[ प्र प्त

बेलाPcom.sunनन पर काश कशCO दी व5लेता हूं कि ) U र
मर 5नग

काश कश म+च 8 सान बेलाPभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ले सान बेलाPकाश कशता हूं कि थ. परता हूं कि C ऐसान बेलाP काश कशCO न

म<

+ चCकाश कश

/.

काश कशCO ऐसान बेलाP

थ , 0/सान बेलाP बेलाPcom.sunसान बेलाPप काश कश सान बेलाPरकाश कश र

म न लेन हकाश कश दी व5लेता हूं कि अत्यिक विधाएं कभी मरती नह4मता हूं कि काश कश सान बेलाPघN8 पर

सान बेलाP+च व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश पर भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व काश कश प्रमCख काश कश रण बेलाPcom.sunन .

इकाश कश सान बेलाPव$ शता हूं कि ]दी व भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, और भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, र 5सान बेलाPद्ध

ता हूं कि रग’ भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ इसान बेलाP अव5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक म< 5न 5मता हूं कि बेलाPcom.sunन$ र . लेहकाश कशन

काश कश+ पटर पर ले न म< न काश कश म 5सान बेलाPद्ध
बेलाPcom.sunले म<
हदी व

हदी व उसान बेलाPम< काश कशCO

C ई. आ0 व्यंग्य ग्य की अवसा

लेचले बेलाPcom.sun काश कश

लेखन सान बेलाP ऊ0 8 ग बेलाPcom.sun

/ ता हूं कि + 5नत्यिक विधाएं कभी मरती नह•ता हूं कि रूप सान बेलाP इसान बेलाPकाश कश k

काश कश+ 5नकाश कश लेन काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कशवले सान बेलाPप दी वकाश कश
लेखकाश कश

ऊ0 8 काश कश दी वरकाश कश र भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $

बेलाPcom.sun C ता हूं कि आश्व4ता हूं कि न

+ता हूं कि $

काश कशर प ता हूं कि $. व्यंग्य ग्य की अवसा

नएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वN , न

सान बेलाPमप8ण प 8प्त न

/ . ‘व्यंग्य ग्य की अवसा

+न बेलाPcom.sunCर न

/ . त्यिक विधाएं कभी मरती नह0नकाश कश

/. काश कशड़ -काश कशरकाश कशट 0

काश कश लेखन’ काश कश

अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश

रव$द्र काश कश 5ले

1.

लेखकाश कश

चCन;5ता हूं कि

लेचले मच र

ले+काश कशता हूं कि त अधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक+ग5ता हूं कि काश कश ओर

भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वv

म< 0नता हूं कि

काश कशर 5ले

व्यंग्य ग्य की अवसा

लेग ता हूं कि र बेलाPcom.sun: र

सान बेलाPसान बेलाPदी व

• दी व सान बेलाPE ई काश कश 0रूरता हूं कि पड़ता हूं कि $
/.

/.

काश कश म

म< व्यंग्य ग्य की अवसा

+

काश कश+ ‘5नठGले)

थ . आ0

/ . मCb लेगता हूं कि

ले ता हूं कि बेलाPcom.sunदी वले चCकाश कश
/ हकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा

/ . व 5सान बेलाPE8 5लेखन काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, 5लेखता हूं कि

1.

इन

1 . काश कशले व दी व

दृविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने m बेलाPcom.sun सान बेलाP$ पड़ चCकाश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वN ) सान बेलाP

काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, आ0 प ले सान बेलाP काश कश

अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश अनCकाश कशले

1 . व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, नएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वN ) काश कश काश कशम$ न .

/. बेलाPcom.sun 0 र न सान बेलाPबेलाPcom.sunधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक) और सान बेलाP 4काश कशa5ता हूं कि काश कश प्रता हूं कि $काश कश) पर काश कश]0

/, र 0न$5ता हूं कि पर पYरव रव दी व
0नता हूं कि

प्ररण एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

काश कश र 0न$5ता हूं कि काश कश और wm च र

काश कश म;5लेकाश कशता हूं कि काश कश+ बेलाPcom.sun: सान बेलाPकाश कशता हूं कि

/. प्र5ता हूं कि बेलाPcom.sunद्धता हूं कि काश कश अभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व म<

0 प ता हूं कि $, 0बेलाPcom.sunहकाश कश पYरत्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि

/.

C ई थ$. उन हदी वन) शरदी व 0+श$ सान बेलाPभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, वता हूं कि T 0$विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वता हूं कि थ

काश कश क्षत म<

व$

/ . उसान बेलाPकाश कश मC\

न विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तवण$ सान बेलाPभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, ग र म< अपन वक्तव्यंग्य

हदी वन) सान बेलाPCविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, +ग$ मI वग8 काश कश लेखन बेलाPcom.sunन
पर न

+ व

काश कश हटzपण$ म< मCb सान बेलाPच न0र आन लेग

दृविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने mकाश कश+ण व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) पर

पविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, इसान बेलाP म+चf पर

/ , त्यिक विधाएं कभी मरती नह0सान बेलाPकाश कश प्रमCख चYरत आ0 सान बेलाPमb;ता हूं कि व दी व

थ . उसान बेलाPकाश कश ता हूं कि $ख$ प्र5ता हूं कि हक्र

और उनकाश कश ‘प्र5ता हूं कि हदी वन’ व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश+

1 , wm च र आ0 भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र) काश कश सान बेलाPव 85धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश

4पm काश कशर दी व< हकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा

5नर मI वगo म न5सान बेलाPकाश कशता हूं कि U र सान बेलाPभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व न
/. वNW प ले रव$द्र काश कश 5ले

प्रम 0नम0

आ0 भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ बेलाPcom.sun सान बेलाP$ पड़ चCकाश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वN ) सान बेलाP काश कश म चले र

ऐसान बेलाP$ अव4थ म< प्र4ता हूं कि C5ता हूं कि काश कशरण काश कश रचन पन व्यंग्य ग्य की अवसा
चCकाश कश

/. इसान बेलाP अवसान बेलाP न

+ता हूं कि . उसान बेलाPकाश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, म;5लेकाश कश

0$वनबेलाPcom.sun+धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक, नई चता हूं कि न और ऊ0 8 उसान बेलाPसान बेलाP नदी व रदी व

पसान बेलाPदी व दी व विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वN ) म< सान बेलाP

काश कश गएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, व/भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व

1 . लेहकाश कशन हकाश कशसान बेलाP$ पविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश

त ’ और बेलाPcom.sun काश कश व्यंग्य ग्य की अवसा

आ0 भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ र 0न$5ता हूं कि काश कश ग5ले र) सान बेलाP 5नकाश कशलेता हूं कि $
काश कश<हद्रता हूं कि

+न र . ‘अ•ट सान बेलाP’ और

पविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, व्यंग्य ग्य की अवसा

0 न च ह एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, 0+ ‘व्यंग्य ग्य की अवसा - त ’ काश कश+ 5न 5मता हूं कि रूप सान बेलाP 5नकाश कश ले र

/.

C ई . सान बेलाPता हूं कि +N काश कश बेलाPcom.sun ता हूं कि इसान बेलाPकाश कश

प ले दी वशकाश कश म< ‘व्यंग्य ग्य की अवसा - त ’ 0/सान बेलाP$ पविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने तकाश कश ओ काश कश प्रकाश कश शन आरभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों,
‘व्यंग्य ग्य की अवसा

+ चCकाश कश

र ग$, नता हूं कि

व$

/. एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश नएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, वण 8kम धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकम8 काश कश उदी व

नता हूं कि . wm च र अता हूं कि रर ‰$ काश कशरण काश कश

+ र

hगर पर

/.
/.

टले$विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व0न ‘ले$ले काश कश<द्र’ बेलाPcom.sunनता हूं कि 0 र

/ . धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक 5म8काश कश ‘ले$ले ओ’ काश कश बेलाPcom.sun : आई

वNW सान बेलाP एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, काश कश नएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, दी ववता हूं कि

अवता हूं कि र

‘श5न’ काश कश

Cआ

Cई

/. आदी वम$ काश कश हदी वले म< प/ठ hर और

असान बेलाPCरक्ष बेलाPcom.sun+धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक काश कश+ भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, Cन न काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, ‘श5नदी वव’ काश कश महदी वर ता हूं कि 0$ सान बेलाP बेलाPcom.sunन एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, 0 र
‘श5न-ले$ले ओ’ काश कश प्रदी वश8न काश कशर र

/. काश कश/सान बेलाP$ विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वhबेलाPcom.sunन

/, मगलेp

काश कश

मश hर र ता हूं कि

1. उन दी ववता हूं कि ओ सान बेलाP 0+ अपन भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वv

विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वसान बेलाPग5ता हूं कि ) पर व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र म;न

1. बेलाPcom.sunदी वले$

1, लेहकाश कशन दी ववता हूं कि ओ

काश कश+ लेकाश कशर 4व

आक्र ता हूं कि

1 . इन

C ई पYरत्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि ) काश कश अनCकाश कशले अपन विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वच र),

अ5भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, व्यंग्य विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्तकाश कशले म< पYरवता हूं कि 8न काश कशरन म< व असान बेलाPमथ8 र
व$

1 . टले$विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व0न भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $

त काश कश+ ता हूं कि पर ले+ग

काश कशz टर सान बेलाP खले खलेता हूं कि , म+बेलाPcom.sun इले पर ‘च/ट’ और इटरनट सान बेलाP सान बेलाPव दी व काश कशरता हूं कि
सान बेलाP

/. इधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकर काश कशCO

1 . उनकाश कश 5न0$ पव8p

व्यंग्य ग्य की अवसा -लेखन पर

1. दी वत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षणपथ$ शविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त ) सान बेलाP ऊ08त्यिक विधाएं कभी मरती नह4वता हूं कि 0नले+काश कशप ले सान बेलाPमथ8काश कश आदी व+लेन और सान बेलाPरकाश कश र काश कश

मविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने त ) काश कश बेलाPcom.sunलेग म, म 8दी व विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने व न आचरण न सान बेलाPम 0 काश कश+ म न) सान बेलाP उU5लेता हूं कि बेलाPcom.sunन एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, रख ,
0नता हूं कि और सान बेलाPसान बेलाPदी व काश कश अ5धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठककाश कश र-क्षत काश कश+ लेकाश कशर म न) बेलाPcom.sun सान बेलाP चले$, अनकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा
बेलाPcom.sunन$. व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र इसान बेलाP मCL पर भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, $ चCzप$ सान बेलाP धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक र . उनकाश कश
काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, नCकाश कशसान बेलाP नदी व

5सान बेलाPद्ध

+ र

व/च Yरकाश कश प्र5ता हूं कि बेलाPcom.sunद्धता हूं कि अ5नव 8

/. उप C8क्त काश कश अ5भी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, प्र

/. प्र5ता हूं कि बेलाPcom.sunद्ध

बेलाPcom.sunन एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, , और

/ हकाश कश व

विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वचलेन काश कश+ अपन$ वक्र+विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने क्त काश कश प्र र काश कशर.
अपन लेखनकाश कशम8 काश कश प्र5ता हूं कि ईम नदी व र न
+ सान बेलाPकाश कशता हूं कि . व्यंग्य ग्य की अवसा

0Yर

उभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, लेखकों, र सान बेलाPकाश कश<. ऐसान बेलाP

खCदी व सान बेलाP 0ग ता हूं कि काश कश 0 ता हूं कि $

हकाश कश व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों,

+न प 8प्त

/.

हदी व व

दी वत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षपथ$ विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वच र), सान बेलाP4थ ओ काश कश+ अपन व्यंग्य ग्य की अवसा

हदी व उसान बेलाPकाश कश विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वश्व सान बेलाP व मपथ म<

और व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र दी व+न)

+न दी वसान बेलाPर विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक ओ काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, 0रूर

व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र काश कश 5लेएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, अपन लेखनकाश कशम8 काश कश प्र5ता हूं कि 5न[ व न
ता हूं कि + उसान बेलाPकाश कश दी व 5

म;न व्यंग्य ग्य की अवसा

काश कश+ ऐसान बेलाP

मकाश कश त्यिक विधाएं कभी मरती नह4थ5ता हूं कि

/ ता हूं कि + उसान बेलाPकाश कश काश कशता हूं कि 8व्यंग्य

हदी व ऐसान बेलाP न

/ . ता हूं कि बेलाPcom.sun व

और काश कशCO

/ ता हूं कि +

+ सान बेलाPकाश कशता हूं कि

+ सान बेलाPकाश कशता हूं कि

दी वत्यिक विधाएं कभी मरती नहक्षणपथ$

/.
/

लेखन काश कश 5नश न

/ हकाश कश व

व मपथ काश कश

म न 0 एं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठकों, ग हकाश कश व

/, व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र काश कशदी व विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने प

5न[ व न रचन धाएं कभी मरती नहीं. वे अपने पाठक5म8 ) काश कश आवश्यप0 काश कशता हूं कि

/ त्यिक विधाएं कभी मरती नह0नकाश कश दृविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने m सान बेलाP

+. 0+ प/न$ दृविधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने m सान बेलाP अपन आसान बेलाPप सान बेलाP व्यंग्य प्त विधाएं कभी मरती नहीं. वे अपने वसान बेलाPग5ता हूं कि ) काश कश+ रचन काश कश
व्यंग्य ग्य की अवसा काश कश र इसान बेलाP अवसान बेलाP नबेलाPcom.sunले म< नव+@मN काश कश दी व4ता हूं कि काश कश दी व सान बेलाPकाश कशता हूं कि

1.

© ओमप्रकाश कश श काश कशश्यप0 प