You are on page 1of 3

Ajmer

आसाराम बाप ू के च ार िि षय िि रफ ता र
पुषकर।संत आसाराम बापू के चार ििषयो को पुििस ने सोमवार को हिियारो से िैस होकर पंचकुंड के पास ििित आम वािे
बाबा के आशम पर कबजा करने के पयास मे ििरफतार कर ििया। आशम की साधवी का कहना है िक चारो की मंिा उनहे रािते
से हटाकर आशम पर कबजा करने की िी िेिकन सूचना िमिते ही पुििस मौके पर पहुंच िई। तेरह बीघा केतफि के आशम की
जमीन की कीमत करीब 9 करोड रपए आंकी जा रही है ।

तीिरथाज पुषकर मे दे ि के पखयात संत आसाराम बापू का आशम और उनके ििषय एक बार िफर सुििय
थ ो मे है । सोमवार को

बापू के च ार िि षय त िव ार व िा िि यो स े िैस ह ोकर बा पू के पंच कुंड आ शम के ि ीक


पीछे त े रह ब ीघ ा के तफि मे फैि े आम वाि े ब ाब ा (िव ामी य ोिा नन द) आशम म े प वेि
कर ि ए।

आरोप है िक उनक ा इरा दा आ शम की महंत सा धवी ब ाि ान नदप ु री क ो र ाित े स े ह टा कर


आशम पर क बजा करना ि ा। हिियारो के साि चार अजनिबयो को आशम मे दे िकर साधवी के ििषयो मे दहित
फैि िई। चारो युवको ने सबसे पहिे अिि-अिि मोचाथ संभािा। इनमे से एक युवक साधवी के कमरे के सामने आकर बैि
िया तिा अनय तीन अनयत जाकर बैि िए। इससे पहिे िक चारो ििषय कोई घटना को अंजाम दे ते, िानािघकारी रामेशर िाि
भाटी मौके पर पहुंच िए। पुििस ने चारो को तिवार व िािियो के साि ििरफतार कर ििया।

ये हुए ििरफतार

िब हा र के भाििप ुर िज िे के मन ोह रपुर ा िा ं व के 29 वषीय


बहाद ु र िस ंह को ध ार दा र ति वा र के साि आम स ए कट म े
ििर फता र िकय ा ि या ह ै। इ सके अिा वा िब हा र के ही
बौद िया िज िे के छा ंज िा ंव िनव ासी 24 वषी य िौ तम ,
िुज रात के ब डौ दा के तर साि ी िन वा सी 25 वषी य म नोज
राजप ू त व छतीसिढ के र ाजन ानद िांव के अ ििि ेि साह ू
को िांित भंि करने के आरोप मे ििरफतार िकया िया है ।

अितिरक पुििस अधीकक राजेि मीणा ने मौके पर पहुंच आशम के पडौिसयो तिा साधवी से पूछताछ की। मामिा जानमाि व
आशम की करोडो की जमीन से सीधा जुडा होने से पुििस का पहरा िबिा िदया िया है ।
बापू के ििषयो ने आरोपो को नकारा
पुषकर के पंचकुणड आशम के संचािक भीम सेन ने ििरफतार िकए िए चारो युवको के बापू के ििषय होने की पुç षष करते हुए
साधवी की ओर से ििाए िए आरोपो को िसरे से िािरज कर िदया। उनका कहना िा िक आशम का िवािमतव आम वािे बाबा
की ििषया का ही है । साधवी ने बापू के टिट के नाम से संकलप पत िििा िा। उसके बाद ििषयो ने अपने ितर पर िबजिी
ििवाकर आशम मे पेड पौधे ििवाए तिा िवकिसत िकया। भीमसेन का कहना है िक अब तक िकया िया िचाथ िौटाने पर वे
आशम से हटने को तैयार है ।

पूवथ मे भी हुआ झिडा


वषथ 1998 मे पंचकुंड आशम मे बापू के दिन
थ करने िए ििानीय
ििषयो के साि बापू के पभाविािी ििषयो ने मारपीट की िी।
इसके िवरोध मे पुषकर के बाजार बनद हुए िे। घटना को िेकर बापू
के िििाफ पुषकर नयायािय मे करीब चार वषथ तक अपरािघक
मुकदमा चिा तिा बाद मे राजीनामा हुआ िा। Pls visit on……
….http://www.patrika.com/news.aspx?c=0&id=98983