You are on page 1of 2

Newspaper Clipping Service

National Documentation Centre (NDC)

विश्ि स्िास््य संगठन

विश्ि स्िास््य संगठन की मजबूरी (Rashtriya Sahara-15 July 2010)

विश्ि स्िास््म संगठन को दानदाता दे शो औय संस्थाओ ऩय ननबभय यहना ऩड़ यहा है । मह स्स्थनत इस
विश्ि संस्था की गरयभा के अनक
ु ू र नही है । विश्ि की स्िास््म सेिाओ के लरए जो दे श मा स्िमंसेिी
संस्थाएं सहमोग कय यही है , उन्ही की कृऩा को ध्मान भे यखकय स्िास््म सेिाओ को चराना ऩड़ यहा है ।
हार भे ग्रोफर एराइंस पॉय िैक्सीन मानी गवि ने उल्रेख ककमा है कक गेट्स पाउं डेशन ने 1999 से
2009 के फीच विश्ि स्िास््म संगठन को 1.14 अयफ डॉरय दान ददमा। मह अभेरयकी सयकाय द्िाया ददमे
गए दान से अधधक था। जफकक अभेरयका ने इसी सभमािधध भें 56 कयोड़ 69 राख डॉरय की सहामता
यालश स्िास््म संगठन को दी। शामद इसीलरए गेट पाउं डेशन का गवि ऩय फड़ा प्रबाि है । औय उसके
कामभक्रभ- प्रोग्राभ पॉय ऐप्रोवऩये ट इन हे ल्थ (ऩीएटीएच) ऩय बी है । इस प्रकाय गेट पाउं डेशन का दान लसपभ
विश्ि स्िास््म संगठन को ही नही जाता, उसने अन्म कई

स्िमंसेिी संस्थाओ को बी अरग से दान ददमा है , जो स्िास्थ संगठन को ऩयोऺ औय अऩयोऺ रूऩ से
ु ंधानो द्िाया सहामता कय यहे है - जैसे जॉन हॉऩककंस विश्िविद्मारम, स्जसने रगबग चारीस राख
अनस
तीस हजाय डॉरय का सहमोग डब्लल्मए
ू चओ को ददमा। इसने ही 2009 भे गेट पाउं डेशन से अस्सी राख
अस्सी हजाय डॉरय की सहामता प्राप्त की। इसी प्रकाय अंतययाष्ट्रीम विकास अनस
ु ंधान केद्र ने तीस राख
सत्तय हजाय डॉरय विश्ि स्िास््म संगठन को ददए। इसको बी गेट पाउं डेशन ने 2009 भे िकारत औय
रोक नीनतमो के लरए चाय कयोड़ डॉरय की सहामता दी। इस प्रसंग ऩय जोय दे ने का भकसद मही है कक
अकेरे गेट पाउं डेशन का फड़ा बायी प्रबाि विश्ि स्िास््म संगठन ऩय है । इसे दस
ू या फड़ा सहमोग फड़ी दिा
कंऩननमो से लभरता है। दजभनो दिा कंऩननमो ने लभरकय विश्ि स्िास््म संगठन को 12 कयोड़ डॉरय की
सहमोग यालश दी। इसी तयह कई उद्मोगो ने बी राखो डॉरय की सहामता स्िास््म संगठन औय अन्म
संगठन जैस-े विश्ि भधुभेह संस्थान, विश्ि पेपड़े संस्थान को दी है । मह बी विश्ि स्िास््म संगठन को
सहमोग कयते है । विलबन्न प्रकाय के स्िंमसेिी सहमोग एक्सरा फजरी पंड (ईफीएप) जो तीन अयफ तीस
राख की यालश है, मह विश्ि स्िस््म संगठन के 2008-2009 के स्िीकृत फजट का 77 प्रनतशत है । ऩूया
स्िीकृत फजट चाय अयफ फीस राख डॉरय का था। मह स्स्थनत फताती है कक ककस तयह विश्ि स्िास््म
संगठन दानदाताओ ऩय आधित है औय इनके अनुसाय ही उसे अऩना फजट खचभ कयना होता है । इस
कायण मह स्ितंत्र संस्था का रूऩ खोता जा यहा है । मह बी ऩता चरा है कक स्िास््म संगठन का
ननमलभत फजट पंड जो कयीफ 23 प्रनतशत की यालश है , स्िीकृत क्िटभ य फजट से कभ है । जफकक फजट को
विश्ि स्िास््म सबा औय विश्ि स्िास््म संगठन की ऺेत्रीम सबाओ द्िाया आिंदटत ककमा जाना चादहए।
रेककन आरोचको का कहना है कक व्मािहारयक तौय ऩय स्िास््म कामभक्रभो को प्राथलभकता फड़े
दानदाताओ औय शस्क्तशारी दे शो के सदस्मो की भजी से ही दी जाती है । इस कायण विश्ि स्िास््म
संगठन का स्ितंत्र अस्स्तत्ि खतये भे है। ऐसी नाजुक स्स्थनत का सफसे ज्मादा पामदा विश्ि की फड़ी दिा
कंऩननमां उठा यही है । िह अऩने उत्ऩाद फाजाय भे फेचने के लरए तयह-तयह के हथकंडे अऩना यही है औय
अऩने नेटिकभ से विश्िबय के धचककत्सको को फेशकीभती उऩहाय दे कय भहं गी दिाएं फाजाय भें उताय यही
हैं। जो गयीफ उन्हें खयीदने की साभथ्र्म नही यखते उन्हें बी भजफूयी भें उन्हें खयीदना ही ऩड़ती हैं। मह
गोयखधंधा विश्ि के तभाभ दे शो भे चर यहा है । इस नजरयए से दे खें तो सभझा जा सकता है कक
विकलसत दे शो से बायत की ओय भेडडकर टूरयज्भ का जो रुझान फढ़ यहा है , उसके ऩीछे इन्ही भहं गी
दिाओं का कायोफाय है । विकलसत दे शों भें डॉक्टयो की पीस इतनी भहं गी है स्जसे िहां के आभ नागरयक
िहन नही कय सकते। इसके एिज भें िह इराज के लरए विकासशीर दे शो का यास्ता ऩकड़ रेते है । हभाये
दे श भें विकलसत दे शों की तर
ु ना भें धचककत्सा सेिाएं सस्ती है । हार ही भे ऐसा ऩमभटन सर्ु खभमो भे है ।
इसभे अऩने ऩड़ोसी दे श बी शालभर है । बरे ही ऩाककस्तान हय िक्त दश
ु भनी का भाहौर फनामे यखता है ,
ऩय भेडडकर सवु िधामे प्रप्त कयने के लरमे िहां का आभ नागरयक महां आने की जग
ु ाड़ भें यहता है।
ऩाककस्तान से आमे हजायो फच्चो को बायतीम डॉक्टयो ने जीिन दान ददमा है । बम है कक कही फड़ी-फड़ी
दिा कंऩननमो की भजी के अनस
ु ाय हभाये दे श भें बी इराज विकलसत दे शों की तयह भहंगा न हो जाए।
बायत भे जीिन यऺक दिाओ के अनतरयक्त शल्म धचककत्सा को आभ आदभी तक ऩहुंचाने का उऩक्रभ
होना चादहए। क्मोंकक आज बी राखो भयीज दिा औय धचककत्सा के अबाि भे भय यहे है ।